जागरण संवाददाता, रोहतक : विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा गठित स्वच्छता निरीक्षण टीम ने मंगलवार को भारत के विश्वविद्यालयों की स्वच्छता रैंकिग सर्वे 2019 के तहत महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (एमडीयू) का दौरा किया। इस स्वच्छता निरीक्षण टीम ने विश्वविद्यालय में स्वच्छता, हरियाली, कचरा प्रबंधन, छात्रावासों में स्वच्छता समेत विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के मापदंडों के तहत एमडीयू परिसर में निरीक्षण कार्य किया। यूजीसी द्वारा गठित स्वच्छता निरीक्षण टीम में राजस्थान विश्वविद्यालय, जयपुर के जनसंचार केंद्र के पूर्व निदेशक एवं सेवानिवृत्त प्रोफेसर डा. संजीव भानावत, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी के ज्योतिष विभाग के डा. शत्रुघन त्रिपाठी तथा दिल्ली विश्वविद्यालय की डा. नीरजा सिंह शामिल रहे।

यूजीसी निरीक्षण दल का सर्वप्रथम कुलपति कार्यालय के समिति कक्ष में कुलपति प्रो. राजबीर सिंह, डीन, एकेडमिक एफेयर्स प्रो. एके राजन तथा कुलसचिव प्रो. गुलशन लाल तनेजा समेत स्वच्छता निरीक्षण संबंधित केन्द्रीय समिति ने औपचारिक स्वागत किया। इस टीम के समक्ष एमडीयू की स्वच्छता तथा हरियाली समेत सभी संबंधित पहलुओं की प्रस्तुति दी गई। एमडीयू की स्वच्छता निरीक्षण संबंधित केंद्रीय समिति के संयोजक प्रो. एएस मान ने प्रेजेंटेशन दिया। सत्र संचालन समिति सदस्य तथा निदेशक डीएलआइएम प्रो. नसीब सिंह गिल ने किया।

एमडीयू कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कहा कि एमडीयू ग्रीन-क्लीन कैंपस है। उन्होंने बताया कि गत वर्ष भी पूरे देश में राज्य विश्वविद्यालयों में स्वच्छता में एमडीयू ने प्रथम स्थान प्राप्त किया था और इस वर्ष नैक द्वारा ए प्लस ग्रेड प्राप्त किया है। उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय में स्वच्छता, हरियाली तथा पर्यावरणीय संरक्षण की स्वस्थ परंपरा है। विश्वविद्यालय में नियमित रूप से पौधारोपण, स्वच्छता अभियान तथा पर्यावरणीय जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। प्रेजेंटेशन उपरांत निरीक्षण टीम के सदस्य प्रो. संजीव भानावत, डा. नीरजा सिंह तथा डा. शत्रुघन त्रिपाठी ने सवाल किए तथा अपना फीडबैक दिया। आभार प्रदर्शन कुलसचिव प्रो. गुलशन लाल तनेजा ने किया।

यूजीसी निरीक्षण टीम ने विश्वविद्यालय सचिवालय स्थित कार्यालयों, विश्वविद्यालय यज्ञशाला, आइएचटीएम, विवेकानंद पुस्तकालय, टैगोर सभागार, परिसरीय क्षेत्र, रेडियो एवं टीवी स्टूडियो, सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट समेत विश्वविद्यालय के छात्रावास तथा अन्य स्टूडेंट सपोर्ट सर्विसेज का अवलोकन किया। छात्रावासों में रसोई घर तथा टॉयलेट्स आदि की विशेष रूप से जांच की। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, रेन वाटर हारवैस्टिग, ड्रेनेज व्यवस्था, डिस्पोजल ऑफ वेस्ट आदि की भी जांच स्वच्छता निरीक्षण टीम ने की। यूजीसी टीम ने विश्वविद्यालय के हरित एवं स्वच्छ परिवेश तथा स्वच्छता संबंधित प्रशासनिक कार्यप्रणाली को खूब सराहा। यह रहे मौजूद

इस अवसर पर प्रो. एएस. मान, प्रो. नसीब सिंह गिल, प्रो. रणदीप राणा, प्रो. संजू नंदा, डा. नीरू राठी, डा. सुमित गिल, डा. प्रीति शर्मा, कार्यकारी अभियंता जगदीश दहिया, निदेशक जनसंपर्क सुनित मुखर्जी, पीआरओ पंकज नैन, एसडीओ निरंजन कुमार व बलजीत सिंह, मुख्य सुरक्षा अधिकारी बलराज सिंह बल्लू समेत समिति सदस्य व अन्य अधिकारी इस विजिट में यूजीसी टीम के साथ रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप