जागरण संवाददाता, रोहतक : अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति की तरफ से जसिया में शनिवार को होने वाली भाईचारा रैली के लिए पुलिस-प्रशासन ने तैयारियां कर ली हैं। यशपाल मलिक गुट का दावा है कि रैली में सरकार के खिलाफ आगामी आंदोलन की घोषणा कर दी जाएगी। रैली को लेकर पुलिस ने भी पूरी तैयारी कर ली है। अलग-अलग स्थानों पर एक हजार से अधिक पुलिसकर्मी मोर्चा संभालेंगे।

दरअसल, यशपाल मलिक गुट ने रविवार को जसिया में दीनबंधु छोटूराम संस्थान में भाईचारा रैली की घोषणा कर रखी है। रैली सुबह 11 बजे शुरू होगी। इसमें हरियाणा के अलावा उत्तरप्रदेश, राजस्थान, दिल्ली और मध्यप्रदेश आदि स्थानों से भी समिति के पदाधिकारी भाग लेंगे। मलिक गुट का दावा है कि सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई के लिए आंदोलन की घोषणा कर दी जाएगी। वहीं पुलिस-प्रशासन भी अलर्ट है। प्रशासन की तरफ से जिले में धारा-144 लागू कर दी गई है। वहीं पुलिस ने शहर के चारों तरफ नाकाबंदी कर दी है। रैली में आने वाले वाहनों को शहर के अंदर एंट्री नहीं दी जाएगी। पुलिस फोर्स को हिदायत दी गई है कि कोई भी लापरवाही नहीं होनी चाहिए। साथ ही हर आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहना होगा। इन स्थानों पर है प्रमुख नाके

पुलिस की तरफ से जलेबी चौक, खरावड़ मंदिर, सोनीपत रोड फ्लाईओवर, सांपला फ्लाईओवर, भालौठ स्टैंड, गोहाना गोल चक्कर, जींद बाईपास, लाढ़ौत चौक और मकड़ौली टोल प्लाजा समेत करीब 20 स्थानों पर नाके लगाए गए हैं। हर नाके पर पांच से छह पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। रोहतक-पानीपत हाईवे पर बड़े वाहनों का आवागमन रहेगा बंद

जसिया में रैली स्थल होने के कारण पुलिस-प्रशासन ने रोहतक-पानीपत हाईवे पर बड़े वाहनों को बंद कर दिया है। बड़े वाहनों को गोहाना से होते हुए पानीपत या रोहतक में भेजा जाएगा। जबकि छोटे वाहन चलते रहेंगे। रैली खत्म होने के बाद रूट को पहले की तरह सुचारू कर दिया जाएगा। 15 अगस्त की तैयारियां भी अधर में

जसिया में मलिक गुट की रैली को देखते हुए पुलिस की 15 अगस्त की तैयारियां भी अधर में लटक गई है। सभी पुलिसकर्मियों की रैली को लेकर ड्यूटी लगा दी गई है, जिस कारण 15 अगस्त की परेड की तैयारी भी नहीं हो पा रही। हालांकि अधिकारियों का दावा है कि सोमवार से तैयारियां शुरू कर दी जाएगी। रैली को लेकर पूरी तैयारी कर ली गई है। इसमें आगामी आंदोलन की घोषणा कर दी जाएगी। साथ ही 16 अगस्त से होने वाले आंदोलन के बारे में भी पदाधिकारियों को बता दिया जाएगा।

- यशपाल मलिक, राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति

Posted By: Jagran