फौज के वीरों को उनके घर पर ही सम्मानित करने की भाजपा सरकार ने नई पहल करके सराहनीय कार्य किया है। इससे युवाओं का सेना के प्रति और अधिक रूझान होगा और उनमें राष्ट्रीयता की भावना बढ़ेगी। उपायुक्त मंगलवार को जिला के गांव निगाणा में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के पावन अवसर पर आजाद हिन्द फौज के सिपाही उमराव ¨सह यादव को उनके निवास स्थान पर जाकर उन्हें सम्मानित किया।

उन्होंने आजाद हिन्द फौज के वीरों को सलाम करते हुए कहा कि उन्होंने देश की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनके प्रयासों से देश के प्रत्येक युवा में आजादी के प्रति जोश एवं उत्साह बढ़ा और भारतीय लोगों ने अंग्रेजों की दासता से मुक्ति पाई। उन्होंने कहा कि हमें ऐसे वीरों एवं उनके परिवारों को सदैव नमन करना चाहिए।

उपायुक्त ने बताया कि सरकार ने द्वितीय विश्वयुद्ध के भूतपूर्व सैनिकों एवं उनकी विधवाओं की आर्थिक सहायता 1500 रुपये से बढ़ाकर 10 हजार रुपये तथा युद्ध के दौरान शहीद हुए सैनिकों एवं अर्धसैनिकों की अनुग्रह राशि अढ़ाई लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये कर दी है। इसके अलावा युद्ध व अन्य घटना के दौरान घायल हुए सैनिकों एवं अर्धसैनिकों की अनुग्रह राशि 15 लाख से 35 लाख रुपये तक प्रदान की जा रही है। इसके अलावा वीरता पुरस्कार प्राप्त सैनिकों को राज्य परिवहन की बसों में मुफ्त यात्रा की सुविधा भी प्रदान की जाती है। इस दौरान गांव के नम्बरदार राजेश सिक्का, पंकज राणा, सतबीर ¨सह, हरदीप राणा, नरेश, सुनील, विक्रम, भगवानदास, धर्मबीर रामफल, मोजीराम, वेदपाल, सतनारायण, जयप्रकाश व जागेराम आदि उपस्थित थे।

उपायुक्त ने कहा कि सरकार के निर्णय अनुसार आजाद हिन्द फौज के सेनानियों एवं शहीदों के परिजनों को उनके घर-द्वार पर ही सम्मानित किया जा रहा है। इसी कड़ी में जिला के 20 आजाद हिन्द फौज के सेनानियों एवं उनके आश्रितों को अतिरिक्त उपायुक्त अजय कुमार, एसडीएम अरविन्द मल्हाण, नगराधीश महेंद्रपाल, सांपला के एसडीएम तरूण पावरिया, महम के एसडीएम निर्मल नागर, जिला परिषद के डिप्टी सीईओ रविन्द्र कुमार, जिला राजस्व अधिकारी ब्रहमप्रकाश ने आज गांव-गांव जाकर सम्मानित किया है। उन्होंने बताया कि रोहतक उपमंडल के 14, सांपला के दो तथा महम उपमंडल के चार आईएनए के सिपाहियों को सम्मानित किया गया है। उन्होंने बताया कि भरत कालोनी निवासी कलावती, न्यू विजय नगर निवासी श्रीमती मोखनी देवी, खरकड़ा निवासी निहाली देवी, गान्धरा की चन्द्रो देवी व फूला देवी, कटेसरा की खजानी देवी, चुन्नीपुरा की शान्ति देवी, सुनारिया कलां की भतेरी देवी, आसन की लाडो देवी, मकडौली कलां की धर्मो तथा सांघी की बेदो को पुरस्कृत किया गया है।

डा. गर्ग ने बताया कि आजाद हिन्द फौज के सेनानियों में लक्ष्मीनगर की पतासो देवी, पिलाना की वेदकौर, सुभाष नगर की मुख्त्यारी देवी, सुन्दरपुर की खजानी देवी, खिड़वाली की नन्ही देवी, खरावड़ की रामकौर, सुनारियां कलां की चन्द्री देवी तथा गरनावठी की प्रेमो देवी को भी उनके निवास स्थान पर पहुंचकर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के अवसर पर सम्मानित किया गया है।

इससे पूर्व स्थानीय नेताजी सुभाष चंद्र बोस चौंक पर अतिरिक्त उपायुक्त अजय कुमार, एसडीएम अरविन्द मल्हाण, नगराधीश महेंद्रपाल, नगर निगम के आयुक्त प्रदीप कुमार ने उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उनके साथ कई प्रशासनिक अधिकारी व गणमान्य नागरिक भी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप