संवाद सहयोगी, कलानौर : डंपर में गोवंश को लेकर जा रहे एक आरोपित को गोरक्षा दल के जिलाध्यक्ष ने साथियों की मदद से पकड़ लिया, जबकि गो तस्कर के अन्य साथी वहां से फरार हो गए। आरोपितों ने बचने के लिए जिलाध्यक्ष की कार पर फायरिग भी की। कलानौर पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

पुलिस को दी गई शिकायत में हांसी के जगदीश नगर कालोनी निवासी अनिल आर्य ने बताया कि वह गोरक्षा दल हिसार में जिलाध्यक्ष के पद पर हैं। सोमवार तड़के करीब साढ़े चार बजे अपने भाई अजय के साथ महम से कलानौर की तरफ जा रहा था। बसाना गांव के नजदीक पहुंचते ही पीछे से आ रहे डंपर ने उनकी कार को क्रॉस किया। तभी पता चला कि डंपर में पशुओं को भरा गया था। डंपर का पीछा करने पर चालक की दूसरी तरफ बैठे युवक ने उनकी कार पर फायरिग कर दी। लगातार तीन-चार राउंड फायरिग की गई। जिसमें कार सवार बाल-बाल बच गए। कुछ दूर जाने के बाद चालक ने डंपर को पीछे से उठा दिया और उसके अंदर भरे गोवंश सड़क पर गिरा दिया। डंपर के अंदर से पांच बैल सड़क पर गिराए गए, जिनके मुंह व पैर बंधे हुए थे। इसके बाद भी उनका पीछा नहीं छोड़ा। करीब एक किलोमीटर दूर बसाना रेलवे फाटक के पास डंपर पलट गया। कार सवारों ने मौके पर नूंह निवासी आजाद को मौके पर ही पकड़ लिया, जबकि बाकी आरोपित वहां से फरार हो गए। सूचना मिलने पर कलानौर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप