जागरण संवाददाता, रोहतक : काठमंडी के व्यापारी से 64 लाख की ठगी के मामले बड़ी जानकारी सामने आई है। आरोपितों ने नासिक की जिस कंपनी का पता बताकर वहां से पामिटिक रॉ नट्स मंगाए थे वहां पर इस नाम से कोई कंपनी ही नहीं है। यानी कि आरोपितों ने व्यापारी को फर्जी पता दिया और बाद में रकम लेकर खुद ही व्यापारी के पास नट्स भेज दिए। यह खुलासा सीआइए-3 की द्वारा रिमांड पर लिए गए नाइजीरिया के आरोपित ने किया है।

बता दें, कि काठमंडी के रहने वाले पत्थर व्यापारी सुनील दत्त को नाइजीरिया के एक आरोपित ने महिला बनकर शिकार बनाया था। आरोपित ने नासिक की एक फार्मा कंपनी का पता दिया और कहा कि वहां से पामिटक रॉ नट्स खरीदकर भेज दिए। इसके एवज में अच्छा कमीशन दिया जाएगा। व्यापारी ने झांसे में आकर करीब 64 लाख रुपये के नट्स मंगा लिए, लेकिन बाद में आरोपित से संपर्क नहीं हुआ और न ही उन्होंने डिलीवरी ली। मामले की जांच पड़ताल के बाद सीआइए-3 की टीम ने पिछले सप्ताह गुरुग्राम के नाइजीरिया के रहने वाले उगो इमेन्युअल को गिरफ्तार किया था, जिसे सात दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। आरोपित से पूछताछ में सामने आया है कि नासिक की जिस कंपनी से नट्स मंगाए गए थे वहां पर उस नाम की कोई कंपनी ही नहीं है। आरोपित ने योजनाबद्ध तरीके से नासिक का पता दिया था, जिसके बाद अपने खाते में रुपये मंगाकर खुद ही व्यापारी को नट्स भेज दिए थे। खास बात यह है कि जो नट्स 64 लाख रुपये में भेजे गए थे उनकी कीमत भी दो-तीन हजार रुपये से ज्यादा नहीं है। फिलहाल पुलिस आरोपित से पूछताछ में जुटी है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप