जागरण संवाददाता, रोहतक : बैंसी गांव के पास से सीआइए-2 की टीम ने मुठभेड़ के दौरान 25 हजार के इनामी समेत दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिग भी की। आरोपितों से पूछताछ के बाद पुलिस ने गुजरात के एक्सिस बैंक में हुई डकैती समेत कई बड़ी वारदातों का खुलासा किया है। बृहस्पतिवार को लघु सचिवालय में एएसपी मकसूद अहमद ने प्रेस कांफ्रेंस कर पूरे मामले की जानकारी दी।

एएसपी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर सीआइए-2 प्रभारी आजाद सिंह की टीम ने बैंसी गांव में खरैंटी रोड पर नाकाबंदी शुरू की। इसी दौरान पुलिस ने बाइक सवार दो युवकों को रूकने का इशारा किया। पुलिस को देखकर आरोपित वहां से भागने लगे। इसी बीच उनकी बाइक गिर गई। इसके बाद आरोपितों ने पुलिस टीम पर फायरिग कर दी, जिसमें पुलिसकर्मी बाल-बाल बच गए। पुलिस ने घेराबंदी कर दोनों आरोपितों को पकड़ लिया। पूछताछ में आरोपितों की पहचान बैंसी गांव निवासी रविद्र उर्फ भोलू और निदाना गांव निवासी अमित उर्फ गबदू के रूप में हुई। आरोपित रविद्र उर्फ भोलू पर रोहतक पुलिस की तरफ से 25 हजार का इनाम घोषित था। दोनों आरोपितों के खिलाफ लाखनमाजरा थाने में केस दर्ज कराया गया है। आरोपितों से पूछताछ के बाद पुलिस ने कई वारदातों का खुलासा किया है। बदमाशों को पकड़ने वाली टीम में उप निरीक्षक योगेंद्र, सहायक उप निरीक्षक बिरेंद्र, मुख्य सिपाही देवेंद्र, सिपाही कृष्ण, अजित और मंजीत शामिल थे। यह है आरोपितों का रिकार्ड

आरोपित रविद्र उर्फ भोलू ने काफी समय से फरारर चल रहा था, जिस पर इनाम भी घोषित था। आरोपित के खिलाफ डकैती, लूट, चोरी, दुष्कर्म और मारपीट आदि के करीब एक दर्जन मामले दर्ज है। आरोपित को कोर्ट ने भी भगौड़ा घोषित कर रखा था। आरोपित के पास से एक पिस्तोल और कारतूस बरामद हुए हैं। आरोपित ने भी कई वारदातों को अंजाम दे रखा है। आरोपित रविद्र उर्फ भोलू ने किया इन वारदातों का खुलासा

- आरोपित ने वर्ष 2011 ने गांव में ड्रेन के पानी को लेकर झगड़ा किया था।

- वर्ष 2012 में आरोपित ने मोनू, सुनील, जयदीप उर्फ लीली के साथ मिलकर बैंसी के सर्राफ से जेवरात लूटे थे।

- वर्ष 2015 में आरोपित ने मोनू और संदीप के साथ मिलकर मुडलाना के पास पशु व्यापारियों से लूटपाट की थी।

- आरोपित ने वर्ष 2015 में मनीष, बिल्लू, नान्हा के साथ मिलकर मुरथल हाईवे के पास कार लूटी थी।

- वर्ष 2015 में आरोपित ने मनीष और अन्य के साथ मिलकर कुंडली के पास बाइक लूटी थी।

- वर्ष 2017 में आरोपित ने सोनीपत के एक गांव से महिला का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया था। आरोपित उस मामले में जमानत पर आने के बाद फरार चल रहा था।

- वर्ष 2018 में आरोपित ने राहुल उर्फ राम, धर्मेंद्र और अंकुश के साथ मिलकर करनाल बाईपास से कार लूटी थी।

- वर्ष 2018 में ही आरोपित ने साथियों के साथ मिलकर एक कंपनी से पांच लाख रुपये लूटे थे।

- आरोपित ने वर्ष 2018 में ही गुजरात के गांधीधाम आदीपुर में एक्सिस बैंक में 30 लाख रुपये की डकैती डाली थी।

नोट : इनके अलावा भी आरोपित ने कई अन्य वारदातों को अंजाम दे रखा है। इन वारदातों में शामिल रहा है आरोपित अमित

- आरोपित अमित ने वर्ष 2017 में बिजेंद्र, अमित और विक्की के साथ मिलकर महम के एक गांव में युवती से सामूहिक दुष्कर्म किया था।

- जून 2019 में आरोपित ने रोहित, मोहित, साहिल व अन्य के साथ मिलकर निदाना निवासी कृष्ण के साथ मारपीट की थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप