जागरण संवाददाता, रोहतक :

जिले में सोमवार को मेगा वैक्सीन ड्राइव चलाया गया। करीब 93 फीसद लक्ष्य पूरा हुआ। कुल 1500 को वैक्सीन लगाई जानी थी। इसमें से 1400 पहुंचे। पंडित भगवत दयाल स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय में चार साइट पर वैक्सीनेशन हुआ। दूसरे सप्ताह के पहले दिन 55 फीसद वैक्सीन की डोज लगवाने के लिए पहुंचे। 402 को वैक्सीन लगाई जानी थी। इनमें से 225 ने वैक्सीन लगवाई। करीब 13 सेशन साइट पर वैक्सीनेशन हुआ।

हेल्थ विवि के पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (पीजीआइएमएस) के साथ ही पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज (पीजीआइडीएस) में भी कोरोना वैक्सीनेशन के लिए सेशन साइट बनाई गई थी। पीजीआइडीएस में 102 हेल्थ वर्कर्स का रजिस्ट्रेशन कराया गया था। इनमें से 94 ने वैक्सीन लगवाई। पीजीआइडीएस का करीब 92 फीसद लक्ष्य पूरा हुआ। दूसरी ओर पीजीआइएमएस में वैक्सीनेशन ने जोर पकड़ा है। तीन सेशन साइट पर 131 हेल्थ वर्कर्स ने कोरोना वैक्सीन लगवाई। पांचवें दिन के वैक्सीनेशन में 43 फीसद हेल्थ वर्कर्स ने कोरोना वैक्सीन की डोज ली। बता दें कि जिले में पहले चरण के वैक्सीनेशन में पुणे की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (सीआइआइ) की ओर से विकसित कोविशील्ड वैक्सीन हेल्थ वर्कर्स को लगाई जा रही है। पीजीआइएमएस में 26 जनवरी को भी वैक्सीनेशन किया जाएगा।

लाइफकेयर अस्पातल में 150 ने लगवाई कोरोना वैक्सीन

मॉडल टाउन स्थित लाइफ केयर अस्पताल में 150 हेल्थ वर्कर्स ने कोरोना वैक्सीन लगवाई। एमडी डा. राजेश जाले ने बताया कि अस्पताल के चिकित्सक व अन्य हेल्थ वर्कर्स कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए उत्साहित दिखे। वह स्वयं कोविशील्ड वैक्सीन की डोज नहीं ले सकते क्योंकि, कोरोना वैक्सीन के ट्रायल में शामिल हैं। उन्होंने हेल्थ वर्कर्स से अपने नंबर के अनुसार जल्द से जल्द वैक्सीन लगवाने के लिए अपील की।

वर्जन :

कोरोना से निजात के लिए हमने अपने संस्थान में वैक्सीनेशन ड्राइव चलाया। संस्थान के हेल्थ वर्कर्स ने स्वेच्छा से बढ़ चढ़कर वैक्सीनेशन में भाग लिया। मैंने खुद भी वैक्सीन लगवाई। किसी प्रकार का साइड इफेक्ट नहीं हुआ। मेरा यही आह्वान है कि हेल्थ वर्कर्स अपने-अपने नंबर पर वैक्सीनेशन के लिए जरूर पहुंचे। - डा. संजय तिवारी, प्रिसिपल, पीजीआइडीएस।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप