जागरण संवाददाता, रोहतक : उपायुक्त आरएस वर्मा ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 के सामुदायिक संक्रमण को रोकने के लिए नई रणनीति बनाई गई है। दिल्ली, गुरुग्राम एवं अन्य स्थानों से आने वाले व्यक्तियों व कर्मचारियों की ट्रेकिग के लिए हेल्दी हरियाणा एप शुरू किया गया है। वाहनों की भी नियमित रूप से जांच की जा रही है तथा पूरा डाटा तैयार किया जा रहा है।

लघु सचिवालय में समीक्षा बैठक के दौरान उपायुक्त ने कहा कि कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों के बचाव के लिए गृह मंत्रालय तथा प्रदेश सरकार द्वारा समय-समय पर जारी हिदायतों व मानक संचालन प्रक्रियाओं को पूरी तरह लागू कराया जा रहा है। कंटेनमेंट जोन में कोई भी व्यक्ति बिना मास्क पहने सार्वजनिक स्थलों पर न निकले। अपने हाथों को नियमित अंतराल पर साबुन अथवा सैनिटाइजर से साफ करें। मेयर मनमोहन गोयल ने संक्रमण को रोकने के लिए अपने सुझाव दिए। उन्होंने कहा कि बाहर विशेषकर दिल्ली से आने-जाने वाले लोगों पर विशेष निगरानी रखी जाए। उपायुक्त ने कहा कि इसके अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए साइकिल रैली भी आयोजित की जाएगी। उन्होंने सरपंचों से भी अपील की है कि वह अपने क्षेत्रों में एक साथ लोगों को इकट्ठा ना होने दें। प्रशासन को शिकायत मिल रही है कि ग्रामीण क्षेत्रों में लोग एक स्थान पर बैठकर ताश खेलते हैं। इस संबंध में हुमांयुपुर के सरपंच को नोटिस भी जारी किया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में साफ-सफाई का भी ध्यान रखा जाए।

इस मौके पर नगर निगम के आयुक्त प्रदीप गोदारा, अतिरिक्त उपायुक्त महेंद्रपाल, सांपला के एसडीएम नवदीप नैन, नगराधीश ब्रह्मप्रकाश अहलावत, डीएसपी सज्जन कुमार, सिविल सर्जन डा. अनिल बिरला, तहसीलदार राजेश कुमार सैनी और राजेश छोक्कर आदि मौजूद रहे।

जिले में बनाए गए हैं तीन नियंत्रण कक्ष

वर्मा ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 की सूचनाओं के लिए तीन नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। जिला प्रशासन द्वारा 1950 हेल्पलाइन की 10 लाइनें 24 घंटे संचालित की जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि कोई भी व्यक्ति कोविड-19 के संदर्भ में अफवाह न फैला सकें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस