जागरण संवाददाता, रोहतक/नई दिल्ली :

रेलवे स्टेशन के निकट एक ही छत के नीचे रेलवे कई सुविधाएं मुहैया कराएगा। रेल भूमि विकास प्राधिकरण (आरएलडीए) ने 45 वर्षों की लीज अवधि के लिए रोहतक जंक्शन रेलवे स्टेशन के पास में एक मल्टीफंक्शनल कॉम्प्लेक्स के विकास और लीज के लिए आरए़फपी मंगाई है। इस साइट का कुल भूखंड क्षेत्र लगभग 357 वर्गमीटर और निर्माण क्षेत्र 533.50 वर्गमीटर है। इस भूखंड का आरक्षित मूल्य 96 लाख रुपए है।

मल्टीफंक्शनल कॉम्प्लेक्स(एमए़फसी) संबंधित स्टेशन कॉम्प्लेक्स के आसपास व रेलवे स्टेशनों के परिसंचारी क्षेत्र में आते हैं। एमए़फसी रेलवे स्टेशनों पर शॉपिग, फूड स्टॉल/रेस्त्रां, बुक स्टॉल, एटीएम, मेडिसिन और वैराइटी स्टोर, बजट होटल, पार्किंग स्पेस और रेल उपयोगकर्ताओं के लिए अन्य समान सुविधाएं जैसी कई सुविधाएं प्रदान करते हैं। एमएफसी के विकास के लिए स्थानीय अधिकारियों से मंजूरी की आवश्यकता नहीं है क्योंकि वे रेलवे के परिचालन भवनों के रूप में घोषित किए गए हैं। रेल भूमि विकास प्राधिकरण के वाइस चेयरमैन वेद प्रकाश डुडेजा ने बताया कि रेलवे स्टेशन से महज चंद कदम की दूरी पर होने के कारण मल्टीफंक्शनल कॉम्प्लेक्स में बड़ी संख्या में लोगों का आवागमन रहेगा। यह एक ही छत के नीचे कई यात्री सुविधाएं प्रदान करेगा। इस कॉम्प्लेक्स में एक बजट होटल, लॉजिग और बोर्डिंग व्यवस्था, रेस्तरां और दुकानें हो सकती हैं। अगर उपलब्धता रही तो रेलवे भुगतान पर जल आपूर्ति, सीवरेज और बिजली प्रदान कर सकता है। इसके अलावा, रेलवे इन उपयोगिताओं को बिना किसी शुल्क के एमएफसी साइट पर लाने के लिए आसपास की रेलवे भूमि से उपयुक्त पहुंच प्रदान करेगा। आरएलडीए ने पहले ही देश भर में 52 एमएफसी को 45 साल की लीज अवधि के लिए विभिन्न डेवलपर्स को दे दिया है। इसमें 13 एमएफसी को कमीशन किया गया है और बाकी निर्माण के विभिन्न चरणों में हैं। रेल भूमि विकास प्राधिकरण (आरएलडीए) रेल मंत्रालय के अधीन एक सांविधिक प्राधिकरण है। इसकी स्थापना गैर-भाड़ा उपायों द्वारा राजस्व अर्जन के उद्देश्य से रेल भूमि का वाणिज्यिक विकास करने के लिये हुई थी। वर्तमान में, भारतीय रेलवे के पास पूरे देश में लगभग 43,000 हेक्टेयर खाली भूमि है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस