जागरण संवाददाता, रोहतक :

मैडम जी, लॉकडाउन में पापा बिहार चले गए, मुझे इंटरनेट चलाना नहीं आता। घर में भाई आता है, तभी ऑनलाइन पढ़ाई कर पाते हैं। लॉकडाउन में रोजगार न होने पर दिक्कतें हो रही हैं। कई बार तो इंटरनेट का रिचार्ज भी नही हो पाता है। मैडम जी लॉकडाउन में हम तो यूपी चले गए हैं। शनिवार को स्कूलों में हुई ऑनलाइन पेरेंट्स-टीचर-मीटिग (पीटीएम) के दौरान इस तरह की दिक्कतें अभिभावकों व विद्यार्थियों की ओर से शिक्षकों को बताई गई। हालांकि शिक्षकों की ओर से उनकी समस्याएं सुनकर उनको पढ़ाई के लिए प्रेरित किया गया। विभाग के निर्देशों पर सुबह नौ बजे से दोपहर बाद दो बजे तक पेरेंट्स-टीचर्स की ऑनलाइन मीटिग हुई। शिक्षकों की मानें तो वहीं, अनेक बच्चों ने बताया कि केबल चैनल कभी कभी ही देख पाते हैं। बिजली की दिक्कत हो जाती है जबकि कुछ अभिभावकों ने बताया कि उनके पास स्मार्ट फोन नहीं है, बटन वाला फोन है। हालांकि शिक्षकों का दावा है कि सभी विद्यार्थियों से संपर्क किया गया। कोरोना काल में ज्यादातर अभिभावकों व विद्यार्थियों ने ऑनलाइन पढ़ाई को ही उपयुक्त माना है। उधर, अभिभावक संघ का कहना है कि सरकारी स्कूलों में ज्यादातर बच्चे गरीब परिवारों के हैं। अनेक अभिभावकों के पास स्मार्ट फोन तक नहीं है। ऐसे में ऑनलाइन शिक्षा को कारगर बनाने के लिए सरकार को सबसे पहले इन गरीब बच्चों की पहचान कर उनको स्मार्ट फोन मुहैया कराने चाहिए, तभी यह सार्थक हो पाएगा। सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले अनेक बच्चों के अभिभावक गरीब हैं और उनके पास स्मार्ट फोन भी नहीं है। ऐसे में सरकार को पहले इन गरीब बच्चों की पहचान कर उनको स्मार्ट फोन मुहैया कराने चाहिए। उसके बाद ही ऑनलाइन पीटीएम कराना सार्थक हो सकेगा। वहीं, प्रवासी मजदूरों के अनेक बच्चे यूपी, बिहार भी चले गए हैं। उनको भी ऑनलाइन पढ़ाई से जोड़े रखना जरूरी है।

- यशवंत सिंह, प्रधान, अभिभावक संघ, रोहतक । स्कूल में शनिवार को मेगा पीटीएम कराई गई। इस दौरान अभिभावकों व बच्चों से शिक्षकों ने फोन पर बातचीत कर ऑनलाइन पढ़ाई का फीडबैक लिया है। हालांकि ज्यादातर बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं लेकिन कुछ बच्चों ने यह भी बताया कि गणित के सवालों के अलावा फिजिक्स व कैमिस्ट्री के सवालों में उनको दिक्कतें होती है। सभी बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए प्रेरित किया गया है।

- सुनीता, इंचार्ज, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, गांधी नगर, रोहतक ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस