जागरण संवाददाता, रोहतक : नगर निगम प्रशासन ने एक बार फिर से शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई की। निगम प्रशासन की टीम ने प्रॉपर्टी टैक्स के बकाएदारों पर कार्रवाई करते हुए एक काम्प्लेक्स और दो फैक्टरियों को सील कर दिया। कार्रवाई का डर ही कहेंगे कि 70-80 लाख रुपये के बकाएदार करीब छह-सात बकाएदार नगर निगम कार्यालय में फाइलें लेकर पहुंचे। उन्होंने आश्वासन दिया है कि फाइलें देखें, जल्द ही बकाया जमा कराया जाएगा। वहीं, मौके पर एक अन्य संस्था ने कार्रवाई से बचने के लिए बकाया रकम का चेक जमा कराया है। वहीं, निगम प्रशासन की टीम ने एक कॉम्प्लेक्स और दो फैक्टरियों व एक अन्य स्थान पर कुछ दुकानों को सील किया गया है।

ड्यूटी मजिस्ट्रेट राजेश की निगरानी और पुलिस बलों की मौजूदगी में शुक्रवार को सुबह से शाम तक कार्रवाई हुई। टीम में शामिल रहे क्षेत्रीय कराधान अधिकारी जगदीश चंद्र ने बताया है कि इसी सप्ताह एक लाख रुपये से अधिक रकम के बकाएदारों को नोटिस दिए गए थे। निगम प्रशासन ने टॉप-500 बकाएदारों में से हाल ही में 50 को नोटिस थमाए थे। कार्रवाई की टीम से जुड़े अधिकारियों ने बताया है कि राजीव कालोनी में एक फैक्टरी पर करीब 5.62 लाख रुपये बकाया थे। राजीव नगर में पहले एक कमर्शियल संस्थान था, अब यहां डेयरी संचालित है। संबंधित डेयरी संचालक ने 739500 रुपये बकाया जमा कराने के लिए दो दिन का समय मांगा है। वहीं, कच्चा चमारिया रोड स्थित एक रंग-रोगन की फर्म ने भी 263626 रुपये की बकाया रकम जमा कराने के लिए चेक दिया है। मोती नगर, श्याम कालोनी व एक अन्य स्थान पर कॉम्प्लेक्स सील

निगम की टीम का दावा है कि मोती नगर में एक फैक्टरी पर 491811 रुपये का बकाया था। टीम ने संबंधित फैक्टरी को सील कर दिया। हिसार रोड स्थित श्याम कालोनी में दो दुकानों पर 529298 रुपये बकाया होने के कारण सीलिग की कार्रवाई की गई। वहीं, एक कॉम्प्लेक्स में पहले पांच-छह दुकानें सील की गई थीं। करीब 26.56 लाख रुपये का बकाया जमा न कराने पर शेष खाली सभी दुकानों को भी सील कर दिया गया। निगम के अधिकारियों का यह भी कहना है कि दूसरे बकाएदारों को भी चिह्नित किया जा चुका है। उनके खिलाफ भी फिर से बड़ी कार्रवाई होगी। निगम की टीम ने कार्रवाई के लिए बड़े बकाएदारों को चिह्नित कर लिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस