जागरण संवाददाता, रोहतक : श्रीराम चंद्र भ्याना मेमोरियल ट्रस्ट रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान निर्मल रक्षा कलाई बैंड वितरित करेगा। हालांकि बंगलुरू से तैयार कराई गईं वाटरप्रूफ खास बैंड सिर्फ तीन श्रेणियों के जरूरतमंदों को ही मुफ्त में वितरित की जाएंगी। घरों में अकेले रहने वाले बुजुर्ग, गंभीर बीमारियों से पीड़ित बुजुर्ग या फिर अपाहिजों को ही यह बैंड वितरित की जाएंगी। वहीं, जिन बुजुर्गों की किन्हीं कारणों से मेमोरी खत्म हो चुकी है उनके लिए यह बैंड लक्ष्मण रेखा का कार्य करेगी।

ट्रस्ट के चेयरमैन सुमित भ्याना ने एक निजी होटल में आयोजित प्रेसवार्ता करते हुए योजना की जानकारी दी। बैंड का लाइव डैमो भी दिया गया। सुमित ने बताया है कि खास तरह की बैंड में लाल और हरे रंग के बटन हैं। इस बैंड को जीपीएस (ग्लोबल पोजिशनिग सिस्टम) से कनेक्ट किया जाएगा। इस बैंड में एक सिम भी डालनी होगी। संबंधित बैंड में यह भी सुविधा होगी कि यदि किसी बुजुर्ग की मेमोरी कमजोर है तो यह बैंड बहुत मदद करेगी। बैंड में लोकेशन और दूरी सेट कर सकेंगे। उदाहरण के तौर पर 50 मीटर तक ही बुजुर्ग जा सकता है यह बैंड में सेट कर देंगे। यदि इससे अधिक दूरी पर कोई बुजुर्ग जाएगा तो ट्रस्ट के कंट्रोल रूम पर बीप बजेगी। परिजनों को तत्काल सूचना दी जाएगी। वहीं, एंबुलेंस सेवा का भी विस्तार किया गया है। सेक्टरों के अलावा शहर के अन्य 14 कालोनियों में तीन एंबुलेंस 24 घंटे तैनात रहेंगी। रविवार को सुबह 11 बजे सेक्टर-1 में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में जिला उपायुक्त आरएस वर्मा, मेयर मनमोहन गोयल आदि भी मौजूद रहेंगे। इस दौरान ट्रस्ट के रमेश अहलावत, वीरेंद्र सिंह अरोड़ा, सुनील बूंदरा आदि मौजूद रहे।

कार्यक्रम में आठ-नौ देशों के प्रतिनिधियों को पहुंचना था। हालांकि कोरोना वायरस के चलते चीन से आने वाले कारोबारी का वीजा पहले ही भारत सरकार ने रिजेक्ट कर दिया था। सुमित ने दावा किया है कि बृहस्पतिवार को सिगापुर से आने वाले एक प्रतिनिधि को बुखार की शिकायत थी। इसलिए जांच के दौरान ही सिगापुर स्थित एयरपोर्ट से उन्हें वापस घर भेज दिया। वहीं, ताइवान के प्रतिनिधि का भी वीजा रिजेक्ट कर दिया है। कोरिया और वियतनाम के प्रतिनिधि रोहतक आ चुके हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस