जागरण संवाददाता, रोहतक :

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में ललित कला लोक गीत-संगीत, लोक पकवान, लोक कला, लोक खेल, साहित्य तथा थिएटर का महोत्सव 29 फरवरी से छह मार्च तक आयोजित किया जाएगा। इस महोत्सव को अंतिम रूप देने के लिए मदवि कुलपति प्रो. राजबीर सिंह की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया।

मदवि कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कहा कि इस मेगा-इवेंट में लोक उत्सव का समृद्ध विरासत, लोक-गीत-संगीत तथा लोक परंपराओं का मंचन, साहित्य तथा थिएटर के जरिए सार्थक सामाजिक संदेश इस महोत्सव में दिया जाएगा। कुलपति ने कहा कि फूड फेस्टिवल का आनंद न केवल विश्वविद्यालय समुदाय उठाएगा, बल्कि आम नागरिक भी इसका हिस्सा बनेंगे। कुलपति ने कहा कि उत्सव के साथ-साथ विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों को व्यावहारिक कौशल विकास का अवसर भी इस मेगा इवेंट में मिलेगा।

इससे पूर्व, अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. राजकुमार ने इस महोत्सव के थीम तथा उद्देश्य पर प्रकाश डाला। प्रो. राजकुमार ने बताया कि इस महोत्सव का शुभारंभ 29 फरवरी को फूल-उत्सव से होगा। 29 फरवरी को ही ललित कला कार्यशाला का भी उद्घाटन होगा। यह कार्यशाला सात दिन तक चलेगी। निदेशक युवा कल्याण डा. जगबीर राठी ने लोक-उत्सव का ब्यौरा दिया।

इस बैठक में डीन, एकेडमिक एफेयरस प्रो. नीना सिंह, रजिस्ट्रार प्रो. गुलशन लाल तनेजा, प्रॉक्टर प्रो. एस सी मलिक, चीफ वार्डन (ग‌र्ल्ज) संजू नंदा, डीन (फैकल्टी ऑफ परफार्मिंग एण्ड विजुअल आर्टस) प्रो. सुषमा सिंह, डीन (लाइफ साइंसेज), प्रो. पुष्पा दहिया, प्रो. जे एस हुड्डा, प्रो. हरीश कुमार (विभागाध्यक्ष, पत्रकारिता एवं जनसंचार), प्रो. माया मलिक(विभागाध्यक्ष, हिन्दी), प्रो. सुरेन्द्र कुमार (विभागाध्यक्ष, संस्कृत), प्रो. हुकम चंद (विभागाध्यक्ष, संगीत), प्रो. मीनाक्षी हुड्डा (विभागाध्यक्ष, विजुअल आर्टस), डा. संदीप मलिक (निदेशक, आइएचटीएम), निदेशक खेल डा. डीएस ढुल, निदेशक जनसंपर्क सुनित मुखर्जी शामिल हुए। पीआरओ पंकज नैन, अधीक्षक के एल भाटिया, डी एस डब्लू कर्मी नरेश अहलावत इस अवसर पर उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस