जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: एक दवा विक्रेता ने अपने बिल के पैसे मांगे तो निजी अस्पताल संचालक ने केंद्रीय राव इंद्रजीत सिंह के नाम का रौब झाड़ते हुए धमका दिया। दवा विक्रेता और डाक्टर के बीच हुई बातचीत का आडियो इंटरनेट पर वायरल हो गई। आडियो वायरल होने के बाद केंद्रीय मंत्री ने रेवाड़ी एसपी राजेश कुमार को अस्पताल संचालक पर कार्रवाई करने के लिए पत्र लिखा है। राव और उनके निजी सचिव ने डाक्टर के साथ किसी भी तरह का संबंध होने से इंकार किया है।

इंटरनेट मीडिया पर एक आडियो रिकार्डिंग वायरल हो रही है, जिसमें एक निजी अस्पताल संचालक दवाई विक्रेता को हिसाब करने के लिए बुला रहा है, लेकिन दवा विक्रेता बार-बार चक्कर लगाकर दुखी होने की बात कर अस्पताल में आने से इंकार कर देता है और पैसे की आनलाइन पेमेंट करने के बाद ही सप्लाई शुरू करने की कहता है। दवा विक्रेता द्वारा पैसे मांगने व आने से इंकार करने पर डाक्टर तैश में आकर केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह नाम का रौब दिखाता है और धमका देता है। दो मिनट 27 सेकेंड की यह वीडियो वाट्सएप व अन्य सोशल प्लेटफार्म पर जम कर वायरल हो रही है। आडियो रिकार्डिंग वायरल होने के बाद शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार को पत्र लिखाकर कहा है कि उनके संज्ञान में एक आडियो आई है, जिसमें उनके नाम गलत इस्तेमाल किया गया है। इस आडियो में रेवाड़ी स्थित एक अस्पताल के डाक्टर द्वारा दवाई विक्रेता को मेरा नाम लेकर गलत रूप से धमकाया जा रहा है। उनका डाक्टर और अस्पताल से कोई संबंध नहीं है। मेरे नाम का दुरुपयोग करने वाले डाक्टर व अस्पताल के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। पुलिस अब पूरे मामले की जांच में जुटी है।

Edited By: Jagran