संवाद सहयोगी, कोसली: प्रदेश सरकार द्वारा ऐसे किसानों को प्रधानमंत्री मानधन योजना की प्रीमियम राशि का भुगतान किया जाएगा। जिन किसानों की वार्षिक आय एक लाख 80 हजार रुपये से कम है ऐसे किसान को द्वड्डठ्ठस्त्रद्धड्डठ्ठ.द्बठ्ठ पोर्टल पर 18 जनवरी तक पंजीकरण करवाना होगा। इसके बाद यह पोर्टल बंद हो जाएगा।

एसडीएम होशियार सिंह ने बताया कि किसान मानधन योजना के लिए अब किसान को प्रीमियम नहीं भरना होगा। हरियाणा सरकार ने फैसला किया है कि एक लाख 80 हजार रुपये से कम आय वाले किसानों का प्रीमियम राज्य सरकार भरेगी। इसके लिए किसान की उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए तथा 60 वर्ष के बाद इन किसानों को तीन हजार रुपये मासिक पेंशन दी जाएगी। परिवार पहचान पत्र से आय सत्यापित करने के बाद प्रदेशभर में ऐसे दस हजार किसान चिह्नित किए हैं। साल 2019 में केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री मानधन योजना लागू की गई थी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है। इसके लिए किसी भी सीएससी केंद्र या अंत्योदय सरल केंद्र पर जाकर किसान अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। किसान खुद भी अपने मोबाइल या कंप्यूटर पर जाकर इस पोर्टल के माध्यम से अपना पंजीकरण कर सकते हैं। किसान आधार नंबर या मोबाइल नंबर द्वारा स्वयं को पंजीकृत करवा सकते हैं। पंजीकरण की प्रक्रिया पोर्टल पर ही दी गई है। उन्होंने स्पष्ट किया कि इस योजना के तहत अगर पति-पत्नी में से किसी की मृत्यु हो जाती है तो उसकी पेंशन इनमें से किसी एक को लगातार जारी रहेगी। इसके लिए कृषि विभाग का फील्ड स्टाफ लगातार फील्ड में जाकर किसानों को जागरूक कर रहा है।

Edited By: Jagran