महेश कुमार वैद्य, रेवाड़ी

चुनाव परिणाम के बाद अब बारी मंत्रिमंडल के गठन की है। निसंदेह यह काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का है और बतौर कैप्टन वही बेहतर जानते हैं कि उनकी टीम में किस-किस खिलाड़ी को शामिल किया जाना है, लेकिन अटकलों पर तब तक विराम नहीं लगना जब तक की अंतिम रूप से नाम तय नहीं हो जाएंगे। अनुमान की बात करें तो अहीरवाल की गुड़गांव लोकसभा सीट से जीते राव इंद्रजीत सिंह एक बार फिर से मोदी मंत्रिमंडल में शामिल हो सकते हैं। उनके मंत्री बनने की संभावना सबसे अधिक है। माना जा रहा है कि हरियाणा से एक दलित, एक सवर्ण व एक पिछड़ा वर्ग का सांसद मोदी मंत्रिमंडल में रहेगा।

राव की संभावना सबसे अधिक होने के तीन बड़े कारण है। एक-अहीरवाल की कम से कम 11 विधानसभा सीटों पर उनका प्रभाव होना। दो-लगातार चौथी जीत के साथ हरियाणा से पांचवीं बार लोकसभा में पहुंचने वाले एकमात्र सांसद। तीन-विधानसभा चुनाव सिर पर होना। हालांकि इन तीनों कारणों के बावजूद यह गारंटी नहीं है कि राव मंत्री बन ही जाएंगे,

क्योंकि पार्टी में एक धड़ा ऐसा भी है जो यह मानता है कि राव और उनके समर्थक विधायक अनुशासनहीनता के मामले में पूर्व में हदें पार कर चुके हैं। उनके पास अपने ठोस तर्क भी हैं, लेकिन राव इंद्रजीत के पैरोकारों का यह कहना है कि पुराने मामलों पर तो धूल जम चुकी है। राव जब एम्स की घोषणा करवाने में कामयाब हुए थे तभी यह तय हो गया था कि उनकी अनदेखी नहीं होगी। राव के मंत्री बनने में रुकावटें जहां कम दिख रही है वहीं यह अटकल सबसे तेज है कि उन्हें कैबिनेट का दर्जा मिलेगा या पहले की तरह राज्यमंत्री का। इसका जवाब समय देगा। दूसरी ओर पिछड़ा वर्ग से पिछली बार कृष्णपाल गुर्जर भी मंत्री थे।

इस बार उन्होंने भी बड़ी जीत दर्ज की है। यह अनुमान भी लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री पिछले वर्ग से दो मंत्री भी बना सकते हैं। दलित व पिछड़ा वर्ग के अलावा जाट एवं स्वर्ण वर्ग से जब केंद्र में मंत्री बनने का बात चलती है तब राज्यसभा सदस्य चौ. बीरेंद्र सिंह व उनके हिसार से नवनिर्वाचित सांसद बेटे बृजेंद्र सिंह का नाम सबसे पहले लिया जा

रहा है। पिछड़ा वर्ग से भाजपा के पास राव व गुर्जर के अलावा जहां नायब सैनी हैं वहीं दलित वर्ग से सुनीता दुग्गल व रतनलाल कटारिया हैं। भाजपा के पास पहली बार एक साथ दो ब्राह्मण चेहरे रमेश कौशिक व डा. अरविद शर्मा भी हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप