जागरण संवाददाता, रेवाड़ी : जिले के गांव माजरा में प्रस्तावित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निर्माण से जुड़ी प्रक्रिया अब आरंभ हो गई है। हरियाणा सरकार के निर्देशानुसार जिला प्रशासन ने परियोजना के लिए जमीन देने वाले किसानों की सहकारी समिति दी माजरा कोआपरेटिव मल्टी पर्पज सोसायटी के गठन के लिए गांव माजरा में सहायक रजिस्ट्रार कोआपरेटिव सोसायटी के निरीक्षक को भी नियुक्त कर दिया है।

कोआपरेटिव सोसायटी करेगी एम्स से जुड़े अन्य कार्यों का प्रबंधन: उपायुक्त यशेंद्र सिंह ने सोसायटी के गठन को लेकर परियोजना के लिए जमीन देने वाले किसानों के प्रतिनिधिमंडल की विशेष बैठक ली। बैठक में परियोजना को लेकर सोसायटी के कार्यों पर विस्तार से चर्चा हुई, जिसमें प्रतिनिधिमंडल ने अपने सुझावों से जिला प्रशासन को अवगत कराया। प्रशासनिक अधिकारियों ने किसानों के सुझावों को आगामी कार्यों में शामिल करने का भरोसा दिया। उपायुक्त ने कहा कि यह सोसायटी एम्स परियोजना के साथ-साथ क्षेत्र के विकास में ग्रामीणों की भागीदारी को सुनिश्चित करेगी। उन्होंने बताया कि एम्स के लिए हरियाणा सरकार ने बजट भी एलोकेट कर दिया है, जिसके चलते किसानों को शीघ्र ही भुगतान आरंभ हो जाएगा। उन्होंने बताया कि कोआपरेटिव सोसायटी परियोजना से जुड़े अन्य कार्यों, जिनमें वाणिज्यिक एवं रिहायशी स्थलों को विकसित करने का आपसी सहमति से प्रबंधन करेगी। इस कार्य में जिला प्रशासन का पूर्ण सहयोग रहेगा।

प्रमाण पत्रों की जांच पूरी, कल अलाट होगी सीट

जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में दाखिले को लेकर चल रही प्रक्रिया के तहत बुधवार को दूसरे राउंड के लिए प्रमाण पत्रों की जांच प्रक्रिया पूरी हो गई है। अब 22 अक्टूबर को विद्यार्थियों को दूसरे राउंड की सीट अलाट की जाएगी। विद्यार्थियों को 24 अक्टूबर तक संस्थान में जाकर प्रमाण पत्रों की फिजिकल वेरिफिकेशन करानी होगी। प्रमाण पत्रों की वेरिफिकेशन होने के बाद पोर्टल पर फीस जमा कराने के लिए पोर्टल खुल जाएगा। पहले राउंड में सीट अलाट होने के बावजूद महज 50 फीसद विद्यार्थियों ने ही फीस जमा कराई थी। जिले में स्थित 23 राजकीय और निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में विभिन्न ट्रेडों की करीब 5,500 सीटों पर दाखिले होने हैं।

Edited By: Jagran