रेवाड़ी, जागरण संवाददाता। रेवाड़ी में बृहस्पतिवार को सुबह से ही काली घटाएं छाई हुई है। उम्मीद जताई जा रही है कि बारिश कभी भी हो सकती है। हालांकि तापमान में गिरावट से गर्मी से लोगों को राहत मिली है। आज सुबह रेवाड़ी का न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

इससे पहले बुधवार को दिनभर बादल छाए रहे और दोपहर बाद आई बारिश ने लोगों को गर्मी व उमस से राहत दिलाई। शाम तक रिमझिम बारिश होती रही। 

वहीं आसमान में काले घने बादलों ने सुबह से शाम तक अपना डेरा जमाए रखा। बुधवार को अधिकतम तापमान 35 डिग्री और न्यूनतम तापमान 25.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बारिश से शहर की सड़कों पर कीचड़ हो गई जिसके चलते राहगीरों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

खिले किसानों के चेहरे

बारिश के बाद जहां लोगों को गर्मी व उसम से राहत मिली, वहीं किसानों के चेहरे भी खिल उठे क्योंकि डेढ़ माह पूर्व जिले में अच्छी बारिश हुई थी, जिसके बाद किसानों ने बाजरे की अगेती बुआई कर दी थी। जिले में किसान 50 हजार हेक्टेयर में बाजरे तथा 20 हजार हेक्टेयर में कपास की बुआई कर चुके हैं। वहीं, बाकी किसान बाजरे की बुआई के लिए बारिश पर नजर टिकाए हुए थे।

बारिश के अभाव में कुछ क्षेत्रों में बाजरे की फसल भी सूखने लगी थी। मानसून सक्रिय होने के बाद किसानों को अब अच्छी बारिश होने की उम्मीद जगी है। बारिश की बूंदों के साथ ही किसानों के होठों पर भी मुस्कान आई है। मंगलवार के मुकाबले अधिकतम तापमान में 1 डिग्री की गिरावट तथा न्यूनतम तापमान में 0.3 डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज की गई। मंगलवार को अधिकतम तापमान 36 डिग्री तथा न्यूनतम तापमान 25.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

इसी प्रकार सोमवार को अधिकतम तापमान 37 डिग्री तथा न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। वहीं रविवार को सुबह के समय हुई बारिश के बाद अधिकतम तापमान 33 डिग्री तथा न्यूनतम तापमान 22.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था। मौसम विभाग ने आने वाले दिनों में बारिश की संभावना जताई गई है।

कृषि विभाग के एसडीओ दीपक यादव ने बताया कि जिन किसानों ने बाजरे की अगेती बुआई की हुई है उनके लिए यह बारिश फायदेमंद रहेगी। वहीं जिस क्षेत्र में 50 एमएम बारिश हुई है वहां पर किसान बाजरे की नई बुआई कर सकते हैं। फसलों के लिए बारिश फायदेमंद है।

 

Edited By: Mangal Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट