मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रेवाड़ी/अलवर, जेएनएन। बहरोड थाने में ताबड़तोड़ फायरिंग कर कुख्यात बदमाश पपला उर्फ विक्रम गुर्जर को छुड़ा कर ले जाने में सहयोग करने वाले गैंग के छह बदमाशों पर राजस्थान पुलिस द्वासरा 50-50 हजार रुपये का ईनाम घोषित किया गया है। जिन बदमाशों पर ईनाम घोषित किया गया है उनमें पांच महेंद्रगढ के रहने वाले है तथा एक रेवाड़ी निवासी है। फरारी के दौरान प्रयोग की गई एक कार रेवाड़ी निवासी एक अन्य बदमाश की बताई जा रही है , पंरतु अभी आधिकारिक रूप से आरोपित का नाम सामने नहीं आया है।

एटीएस एसओजी के एडीजी अनिल पालीवाल के अनुसार, विक्रम उर्फ पपला को थाने से छुड़ाने में कई लोगों के नाम सामने आए है। राजस्थान पुलिस ने थाने से छुड़ाने में शामिल रेवाड़ी के मोहल्ला आदर्श नगर निवासी आकाश यादव और जिला महेंद्रगढ़ के गांव खैरोली निवासी धर्मबीर गुर्जर व अशोक उर्फ मेजर गुर्जर, गांव खैरोली बैरावास निवासी दीक्षांत गुर्जर, दिनेश कुमार गुर्जर व सोमदत्त गुर्जर पर 50-50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। 

एडीजी ने कहा कि बदमाशों को पकड़ने के लिए कई जगह दबिश दी, लेकिन कामयाबी नहीं मिली है। आरोपितों के पकड़वाने वालों का नाम व पता गुप्त रखा जाएगा और 50-50 हजार कर इनाम दिया जाएगा।

आकाश पर दर्ज है दो मामले
रेवाड़ी निवासी आरोपित आकाश पर पहले भी मामले दर्ज हो चुके है। आकाश पर रामपुरा थाना में मारपीट व माडल टाउन थाना में धोखाधड़ी का एक मामला दर्ज है। पपला के भागने में प्रयोग हुई आइ-20 कार रेवाड़ी निवासी एक बदमाश की बताई जा रही है। पुलिस द्वारा पूछताछ के लिए उसकी भी तलाश की जा रही है, परंतु वह भी हाथ नहीं लग पाया है।

पपला का नहीं लगा सुराग
यहां बता दें कि बहरोड़ थाना पुलिस ने गश्त के दौरान एक स्कॉर्पियो में सवार हरियाणा के मोस्ट वांटेड ईनामी बदमाश पपला गुर्जर को करीब 32 लाख रुपये के साथ गिरफ्तार किया था। 6 सितंबर को बदमाश दिनदहाड़े थाने में एके-47 से फायरिंग कर उसे छुड़ा ले गए थे। पुलिस अभी तक पपला का सुराग नहीं लग पाई है। हालांकि उसकी मदद करने वाले पांच बदमाशों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

यह भी पढ़ेंः सुबह बेड पर मिला पत्नी का शव, फरसे की गई हत्या; फरार पति पर शक Rewari News

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप