संवाद सहयोगी, बावल: क्षेत्र के एक गांव से अपहृत नाबालिग छात्रा की बरामदगी के लिए रविवार को आंबेडकर पार्क में आंबेडकर सेवा समिति के बैनर तले महापंचायत का आयोजन किया गया। पार्षद हीरा ¨सह चौहान की अध्यक्षता व पूर्व विधायक रामेश्वर दयाल व जिला प्रमुख मंजुबाला की उपस्थिति में 21 सदस्यीय कमेटी का गठन हुआ। जिसमें जिला सचिवालय के निकट राजीव चौक पर धरना जारी रखने का निर्णय लिया। अब समिति के लोग 11 सितंबर को राज्यपाल के नाम से ज्ञापन सौंपेंगे।

बैठक के दौरान वक्ताओं ने कहा कि गांव में जुलाई माह में हुई महापंचायत में पुलिस अधीक्षक ने स्वयं पहुंच कर पांच दिन में बच्ची को ढूंढने का आश्वासन दिया था। लेकिन, 73 दिन बाद भी बच्ची का पता नहीं चला है। गरीब परिवार की बच्ची होने के कारण प्रशासन ध्यान नही दे रहा। महिलाएं उपायुक्त को ज्ञापन सौंपने जिला सचिवालय पहुंची, परंतु गेट बंद कर पुलिस तैनात कर दी गई। महिलाओं की बात नहीं सुनी गई। वे धरने पर बैठने के लिए मजबूर हुई। जिला सचिवालय पर लगातार धरना चल रहा है, लेकिन आज तक कोई अधिकारी नहीं पहुंचा।

वक्ताओं ने कहा कि जनस्वास्थ्य राज्यमंत्री डॉ. बनवारी लाल ने मामला स्टेट क्राइम ब्रांच को सौंपने की बात कही है। यह बहुत पहले हो जाना चाहिए था। इसमें इतनी देरी क्यों की गई। सभी ने कहा कि बच्ची की बरामदगी होने तक आंदोलन व महिलाओं का धरना जारी रहेगा। बैठक के दौरान इनेलो नेता श्याम सुंदर सभरवाल, डा. र¨वद्र पाली, आंबेडकर सेवा समिति के प्रधान चेतराम रेवाडिया, संरक्षक आरपी ¨सह, सरपंच एसोसिएशन के प्रधान एडवोकेट चरण ¨सह, पार्षद एडवोकेट अर्जुन, यशवंत यादव, गुल्लाराम, मा. पन्नीलाल, दिनेश कुमार पार्षद, सतबीर चेयरमैन, बलजीत ¨सगला, बलवंत ¨सह, हुकम चंद, रामपत, जगदीश डहीनवाल, शीला देवी, सुमन पावटी, पप्पी देवी, डॉ. कंवर ¨सह, ज्योति यादव, बिमला जाजोरिया, शकुंतला देवी, मा. गुरदयाल यादव, लीला राम यादव, पाल यादव, राम ¨सह नंबरदार, प्रताप ¨सह, रामकिशन, सांवल राम, सुभाष आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran