जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: सरकारी कार्यालयों में अधिकारी व कर्मचारी किस कदर अपनी ड्यूटी में लापरवाही बरतते हैं इसकी पोल बुधवार को उस समय खुल गई जब खुद उपायुक्त व उनके द्वारा गठित की गई पांच टीमें सरकारी कार्यालयों में निरीक्षण करने पहुंच गई। सुबह नौ बजे का समय ड्यूटी के लिए निर्धारित है लेकिन विभिन्न कार्यालयों में सौ से अधिक कर्मचारी सवा नौ बजे तक भी अपनी सीट पर नहीं पहुंचे थे और जनता उनका इंतजार कर रही थी। ऐसे लापरवाह कर्मचारियों को उपायुक्त यशेंद्र सिंह ने नोटिस जारी किया है। वहीं अचानक से किए गए इस निरीक्षण के बाद अधिकारियों व कर्मचारियों में हड़कंप मच गया।

उपायुक्त ने किया सचिवालय के कार्यालयों का निरीक्षण

उपायुक्त को लंबे समय से शिकायत मिल रही थी कि सरकारी कार्यालयों में अधिकारी व कर्मचारी सुबह समय पर नहीं पहुंच रहे हैं। उपायुक्त ने निरीक्षण के लिए पांच टीमों का गठन किया। उपायुक्त 9 बजकर 10 मिनट पर जिला सचिवालय में स्थित कार्यालयों का औचक निरीक्षण करने के लिए पहुंचे। उपायुक्त व उनके द्वारा गठित टीमों ने लघु सचिवालय स्थित एमए शाखा, उपायुक्त कार्यालय, नगराधीश कार्यालय, जिला राजस्व कार्यालय, जिला विकास एवं पंचायत कार्यालय, जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक कार्यालय, आबकारी एवं कराधान आयुक्त कार्यालय सहित आरटीए, पीओ आईसीडीएस, जिला समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय, जिला खजाना कार्यालय, जिला कल्याण अधिकारी, बीडीपीओ रेवाड़ी, रेडक्रास, नगर परिषद रेवाड़ी, पंचायती राज, स्वास्थ्य एवं सुरक्षा, लेबर कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उपायुक्त ने स्वयं एक-एक अधिकारी और कर्मचारी से नाम पूछकर हाजिरी ली। जो कर्मचारी गैर हाजिर मिले उनकी सूची बनाने के लिए नगराधीश को मौके पर ही आदेश दिए। उपायुक्त ने बताया कि निरीक्षण के दौरान कार्यालयों से गैरहाजिर रहे अधिकारियों और कर्मचारियों की सूची तैयार करने के निर्देश देते हुए उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है। सौ से अधिक कर्मचारी समय पर ड्यूटी नहीं पहुंचे थे। जब समय पर नहीं आएंगे तो जनसमस्या का समाधान कैसे होगा:

उपायुक्त ने अधिकारियों व कर्मचारियों को कार्यालय में समय पर पहुंचना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आम जनता कार्य करवाने के लिए कर्मचारियों का इंतजार करती रहती है। यह बेहद शर्मसार करने वाली बात है। यदि कर्मचारी स्वयं ही कार्यालयों में नहीं आएंगे तो वह आम जनता के कार्य कैसे करेंगे। सभी अधिकारी और कर्मचारी सुबह नौ से शाम पांच बजे तक अपनी सीट पर बैठकर निष्ठापूर्वक व ईमानदारी से डयूटी का निर्वहन करें अन्यथा लापरवाह अधिकारियों व कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran