जागरण संवाददाता, रेवाड़ी : खरीफ सीजन की फसलों की जिले में एक अक्टूबर से खरीद प्रक्रिया आरंभ होगी, जोकि आगामी 15 नवंबर तक चलेगी। खरीद कार्य की देखरेख के लिए एडीसी ओवरआल इंचार्ज होंगी तथा सभी एसडीएम अपने-अपने क्षेत्र खरीद संबंधी प्रक्रिया को सुचारू बनाए रखने के लिए दैनिक समीक्षा करेंगे। मंडियों में फसल लेकर आने वाले किसानों की सुविधाओं का भी ध्यान रखा जाएगा। सरकार ने बाजरा का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2250 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया है।

उपायुक्त ने अधिकारियों के साथ की बैठक:

उपायुक्त यशेंद्र सिंह ने बुधवार को अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए खरीफ सीजन फसल खरीद प्रक्रिया की तैयारियों को लेकर उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने बैठक में मेरी फसल-मेरा ब्योरा पोर्टल की प्रगति की जानकारी भी ली। जिले के रेवाड़ी, कोसली व बावल मंडियों एक अक्टूबर से खरीद प्रक्रिया आरंभ होगी। इसके अतिरिक्त भी आवक के अनुसार अस्थाई खरीद केंद्र बनाए जाएंगे। फसल खरीद प्रक्रिया के दौरान वेरीफिकेशन के लिए पटवारी की ड्यूटी भी मंडीवार लगाई जाएगी। खरीद से जुड़े स्टाफ, बारदाना, तोलने की मशीन, सुरक्षा के लिए पुलिस बल की तैनाती तथा सभी खरीद एजेंसियों के लिए टारगेट को लेकर उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।

पिछले सीजन की उपज का करें उठान:

उपायुक्त ने बताया कि जिला में फसल खरीद से जुड़ी एजेंसिया क्रमश: खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, हैफेड व हरियाणा वेयर हाउस कार्पोरेशन है। जिन मंडियों में पिछले सीजन की उपज का उठान नहीं हुआ संबंधित एजेंसी दैनिकवार अपनी रिपोर्ट उपायुक्त कार्यालय में जमा कराएं और लदान का पूरा कार्य अक्टूबर के पहले सप्ताह तक पूरा होना चाहिए। बैठक में एसडीएम रेवाड़ी रविद्र यादव, एसडीएम बावल संजीव कुमार, एसडीएम कोसली होशियार सिंह, डीएफएसओ अमित शेखावत सहित खरीद प्रक्रिया से जुड़ी एजेंसियों व अन्य अधिकारीगण भी उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran