संवाद सहयोगी, धारूहेड़ा: क्षेत्र के गांव अलावलपुर में चल रही फैक्ट्री में पतंजलि सहित कई नामी कंपनियों के नाम से नकली घी की पैकिग की जा रही थी। पुलिस ने मौके से कई कंपनियों के नाम से बनाए गए खाली पैकेट व अन्य सामान भी बरामद किया है। पुलिस ने तीन आरोपितों को भी गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बृहस्पतिवार की शाम पतंजलि आयुर्वेद लि. के ब्रांड प्रोटेक्शन अधिकारी यशपाल सपरा की सूचना पर गांव अलावलपुर में चल रही घी बनाने की फैक्ट्री पर छापेमारी की थी। पुलिस ने मौके से फैक्ट्री संचालक दो श्रमिकों को भी काबू किया था। आरोपितों की पहचान फैक्ट्री संचालक धारूहेड़ा निवासी प्रदीप उर्फ कालू सोनी, जिला फतेहाबाद के गांव बडोपल निवासी संजय व बिहार के जिला किशनगढ़ के गांव दसया टोली निवासी दानिश अनवर के रूप में हुई है।

मौके से बरामद हुआ सामान:

पुलिस ने फैक्ट्री से नकली पतंजलि घी 500 ग्राम के 730 खाली डिब्बे, एक लीटर के 440 खाली डिब्बे, गाय घी 500 ग्राम के 125 भरे डिब्बे, गत्ते के 33 डिब्बे , पतंजलि घी के 850 सिल्वर पाउच, घी के पेट्टी टेप रोल, तीन पैकिग मशीनें और स्ट्रैपिग टैप बरामद किए हैं। नोवा, अमूल व सरर कंपनियों के खाली पैकेट व पैकिग सामान बरामद किया है। शिकायत में कहा गया कि आरोपित नकली घी ब्रांडेड कंपनियों के नाम के पैकेट में भर कर बाजार में बेच रहे थे और कंपनियों व आम लोगों से धोखाधड़ी की जा रही थी। पुलिस ने यशपाल सपरा की शिकायत पर आरोपितों के खिलाफ कापी राइट व धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।

Edited By: Jagran