जागरण संवाददाता, रेवाड़ी : शहर के कंपनी बाग मोहल्ला में चारों ओर सीवर जाम और जलभराव की स्थिति बनी हुई। सीवर और नालियां ओवरफ्लो होने से चारों ओर दुर्गंध और मक्खी मच्छरों की भरमार है। इससे बीमारियों के फैलने का अंदेशा लगा हुआ है। इन दिनों बारिश के साथ वायरल बुखार और अन्य बीमारियों से लोग पीड़ित हैं। इस पर सीवर जाम और पानी निकासी का प्रबंध नहीं होने से परेशानियां और बढ़ गई हैं।

यहां पानी निकासी के पर्याप्त प्रबंध नहीं होने के कारण थोड़ी सी बारिश में ही सीवर और नालियां जाम हो रही हैं। मुख्य सड़क पर काई जमने के कारण फिसलन भरे माहौल के कारण वाहन चालक और राहगीर चोटिल हो रहे हैं। कंपनी बाग के गली नंबर एक से चार नंबर गली तक सभी बदहाल हैं। पिछले चार दिनों से जगह जगह सीवर ओवरफ्लो होने से परेशानियां और बढ़ गई हैं। लोगों का कहना है कि सड़क के बीच सीवर बने हुए हैं। पानी निकासी नहीं होने के कारण घरों के शौचालय का दूषित पानी सड़क पर बहता रहता है। पिछले दिनों बारिश के बाद हालत बद से बदतर हो गए हैं। कई बार शिकायत करने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। जब बहुत ज्यादा दबाव डालते हैं तो एक या दो गली में सीवर की सफाई कर चले जाते हैं बाकि रामभरोसे ही हैं।

खोदाई कर छोड़ दी गई गलियां:

कंपनीबाग की कुछ गलियों में सीवर लाइन बिछाने का काम चल रहा है। इसके लिए करीब दो माह पहले गलियों की सड़कों की खोदाई की गई थी। इसके बाद काम लंबित छोड़ दिया गया, जिससे बारिश के दौरान पानी जमा होने से घरों से निकलना मुश्किल हो रहा है। हमारी गली नंबर पांच में आए दिन सीवर जाम की समस्या बनी रहती है। थोड़ी सी बारिश में ही कई दिनों तक जलभराव की स्थिति रहती है। बीमारियां फैलने के साथ दुर्गंध के चलते लोग बीमार हो रहे हैं।

रेखा सोनी हमारे मोहल्ले की अधिकांश गलियां इन दिनों बदहाल स्थिति में हैं। बारिश का पानी निकासी के प्रबंध नहीं होने के साथ सीवर जाम की समस्या पहले से ही बनी हुई है। दो माह से गलियां खोदकर छोड़ दी गई है। इससे न वाहनों से बल्कि पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा है।

शशिकांत

Edited By: Jagran