ज्ञान प्रसाद, रेवाड़ी

लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से आयुर्वेद विभाग केवल बीमारियों का उपचार ही नहीं अब योग भी कराएगा। इससे लोग शारीरिक ही नहीं मानसिक रूप से भी स्वस्थ होंगे। जिला में स्थापित राजकीय आयुर्वेदिक डिस्पेंसरी और आयुष वेलनेस सेंटर में योग कक्षाएं आरंभ होंगी। इसके लिए प्रक्रिया आरंभ हो गईं हैं। नियुक्त होंगे योगाचार्य

आयुष विभाग की ओर से जिला के आयुष डिस्पेंसरी और 12 आयुष वेलनेस सेंटर में योगाचार्य नियुक्त किए जाएंगे। ये योगाचार्य न केवल योग अभ्यास कराएंगे बल्कि विभिन्न बीमारियों से बचाव के लिए प्राकृतिक उपचार के प्रति जागरूक करेंगे। जिला में स्थापित आयुष वेलनेस सेंटर में सहारनवास, रालियावास, सुठाना, बनीपुर, मंगलेश्वर, प्राणपुरा, संगवाड़ी, नंदरामपुर बास, खोरी, मूंदी, मूसेपुर, बीकानेर में योग कक्षाएं आरंभ होंगी। योग अभ्यास के साथ पंचकर्म विधि के लिए करेंगे जागरूक

इन केंद्रों पर योगाचार्यो द्वारा योग अभ्यास कराने के साथ आयुर्वेदाचार्यो द्वारा पंचकर्म विधि से शरीर में होने वाले रोगों और रोग के कारणों को दूर करने के लिए और तीनों दोषों वात, पित्त, खांसी आदि का उपचार किया जा सकेगा। इसके अलावा मरीजों को शरीर में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए पंचकर्म परामर्श, हर्बल के माध्यम से बीमारियों का घर पर ही विभिन्न नुस्खों के माध्यम से बीमारियों का प्रारंभिक उपचार विधि के बारे में जागरूक किया जाएगा। जिला के चयनित राजकीय आयुर्वेदिक डिस्पेंसरी और 12 आयुष वेलनेस सेंटर में एक एक योग वालेंटियर्स अनुबंध पर नियुक्त किए जाएंगे। इसका उद्देश्य आमजन को छोटी-छोटी बीमारियों का योग, व्यायाम और घरेलू नुस्खों का प्रयोग करते हुए उपचार करने के लिए प्रेरित करना है। इसके अलावा इन केंद्रों में तुलसी, अदरक, गिलोए, आंवला आदि के माध्यम से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए प्रयोग विधि के बारे में जानकारी दी जाएगी।

- डॉ. अजीत यादव, जिला आयुष अधिकारी, रेवाड़ी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप