जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: डेंगू भी अब घातक रूप अख्तियार करने लगा है। जिले में डेंगू से एक 13 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई। बच्ची गांव प्राणपुरा की रहने वाली थी तथा गुरुग्राम के निजी अस्पताल में पांच अक्टूबर को मृत्यु हुई थी। बच्ची की मौत के पांच दिन बाद 10 अक्टूबर को उसकी दादी की भी जयपुर के अस्पताल में मृत्यु हो गई। दादी की मौत भी डेंगू से ही होने का अंदेशा है जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग की टीम फिलहाल कागजातों की जांच कर रही है। पिछले चार साल के बाद डेंगू से हुई मौत का पहला मामला है।

गांव में पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम: प्राणपुरा निवासी 13 वर्षीय बच्ची को तेज बुखार होने के साथ ही डेंगू के अन्य लक्षण आने लगे थे। स्वजन ने उसे गुरुग्राम के निजी अस्पताल में भर्ती कराया था जहां पर पांच अक्टूबर को उसकी मृत्यु हुई थी। इसी प्रकार बच्ची की 72 वर्षीय दादी को भी जयपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां 10 अक्टूबर को उनकी मृत्यु हुई थी। गांव के निवर्तमान सरपंच ईश्वर सिंह के अनुसार बच्ची की मृत्यु डेंगू से ही हुई इसकी पुष्टि हो चुकी है। वहीं गांव प्राणपुरा में डेंगू से मौत की सूचना के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम भी बृहस्पतिवार को गांव में पहुंची तथा 50 लोगों के सैंपल लिए गए। इसके अलावा मृतक बच्ची के स्वजन के सैंपल लेकर भी नागरिक अस्पताल में जांच के लिए भिजवाए गए हैं।

उपसिविल सर्जन एवं मलेरिया नोडल अधिकारी डा. विजय प्रकाश ने कहा कि डेंगू से मौत होने की सूचना मिली है। संबंधित इंचार्ज से मृतकों की मेडिकल रिपोर्ट मंगाई गई है। अस्पताल की रिपोर्ट की पुष्टि करने के बाद ही वास्तविक स्थिति स्पष्ट की जा सकेगी।

Edited By: Jagran