जागरण संवाददाता, फिरोजपुर झिरका(नूंह) : क्षेत्र में गोहत्या को लेकर हो रही पंचायतों को गांव दोहा के कुछ असामाजिक तत्वों ने ठेंगा दिखाते हुए बुधवार को फिर गोकशी की। पुलिस ने इस संदर्भ में सात आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। मामले को लेकर पंचायत में भी गुस्सा है, आरोपितों का सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा।

बता दें, देश-प्रदेश में गाय को लेकर बढ़ रही उन्मादी हिंसा की घटनाओं के मद्देनजर क्षेत्र की कुछ पंचायतों ने पहल करते हुए गोहत्या और गोतस्करी के मामलों पर प्रतिबंध लगाते हुए गोवध पर गांव में 21 हजार रुपये का दंड भी था, लेकिन यहां पाबंदी और पंचायत की नाफरमानी करते हुए कुछ असामाजिक तत्वों ने बुधवार के दिन गोकशी कर दी।

हालांकि ग्रामीणों द्वारा इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी गई, लेकिन गो हत्यारे यहां से भाग निकले। कुरैशी समाज के प्रधान शरीफ कुरैशी ने दोहा में हुई गोहत्या की कड़े शब्दों में ¨नदा करते हुए आरोपित पर कानूनी कार्रवाई के साथ सामाजिक दंड करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि भाईचारे को खराब करने वाले लोगों का बिरादरी पूरी तरह बहिष्कार करेगी। वहीं पाड़ला के गांव पूर्व सरपंच उमर मोहम्मद ने भी दोहा में गोहत्या मामले पर सख्त नाराजगी जताते हुए कहा कि जल्द ही इस बाबत क्षेत्र के मौजिज लोगों की एक पंचायत कर आरोपित का सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा।

--------------

ग्रामीणों की शिकायत पर साबिर, हमीद, रसीद, अकबर, काला, आरिफ व साजिद के खिलाफ गोवध अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। आरोपितों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

राजकुमार कुमार एसआइ, जांच अधिकारी।

Posted By: Jagran