संवाद सहयोगी, धारूहेड़ा: नगरपालिका कार्यालय में कार्यरत एक सेवादार ने जिला नगरायुक्त (डीएमसी) पर अभद्रता करने व धमकी देने का आरोप लगाया है। वहीं इसको लेकर सेवादार ने उपायुक्त व नगर पालिका सर्व कर्मचारी संघ के प्रधान को शिकायत भेजी है। वहीं नगरपालिका पार्षदों ने सेवादार पर अपने पद अनुसार कार्य नहीं करने तथा दिनभर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय मंत्री को शिकायत भेजकर स्थानांतरण कराने की मांग की है।

गाड़ी के पास बुलाकर की अभद्रता:

सेवादार वेदप्रिया ने बताया कि डीएमसी बृहस्पतिवार को तेज वर्षा के कारण हुए जलभराव का निरीक्षण करने के लिए धारूहेड़ा आए थे। निरीक्षण के दौरान ही डीएमसी नगरपालिका में भी पहुंचे थे। यहां उनके साथ कर्मचारी और पार्षद भी मौजूद थे। वेदप्रिय ने आरोप लगाया कि उसी दौरान डीएमसी ने उन्हें अपनी गाड़ी के पास बुलाया और उनके साथ बदसलूकी करते हुए अभद्र भाषा का प्रयोग किया।

शिकायत की सूचना पर पार्षदों की बैठक :

सेवादार वेदप्रिय द्वारा डीएमसी की शिकायत करने की सूचना मिलने के पश्चात पार्षदों ने उपचेयरमैन अजय जांगड़ा की अगुवाई में बैठक आयोजित की। पार्षदों का कहना है कि डीएमसी की ओर से बदसलूकी या धमकी जैसी कोई बात नहीं की गई। सेवादार अपनी ड्यूटी करने की बजाय दिनभर राजनीति करता है। कुछ दिन पहले एक कर्मचारी का तबादला करवाने की भी धमकी दी थी। बैठक में पार्षद राजकुमार, कमलेश देवी, सरोज देवी, राहुल जोशी, पूजा देवी, मंजू, शीशपाल, पुष्पा देवी, मनीषा सैनी, राजबीर यादव आदि शामिल रहें।

-----------

डीएमसी ने कहा आरोप निराधार हैं :

डीएमसी भारत भूषण गोगिया ने कहा कि धारूहेड़ा नगर पालिका कर्मचारी द्वारा उन पर लगाए आरोप निराधार हैं। धारूहेड़ा नगरपालिका सचिव के पास धारूहेड़ा के साथ ही पलवल का भी चार्ज है, ऐसे में उक्त कर्मचारी की ड्यूटी कार्यालय कार्य के लिए रेवाड़ी लगाई गई है ताकि धारूहेड़ा से संबंधित कार्य को निपटान किया जा सके। ऐसे में किसी भी रूप से कर्मचारी को परेशान नहीं किया गया है।

Edited By: Jagran