जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: यहां के सेक्टर-एक में फांसी लगाकर आत्महत्या करने वाले युवक की पत्नी ने आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई के लिए पुलिस अधीक्षक और सीएम विडो पर शिकायत दी है। घटना के दस माह बाद भी पुलिस ने किसी भी आरोपित को गिरफ्तार नहीं किया है। मृतक ने भी अपने सुसाइड नोट में चार लोगों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। माडल टाउन थाना में आरोपितों के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज की हुई है।

शिकायत में गांव रोलियावास निवासी सोनू उर्फ ज्योति ने कहा है कि उनके पति दीपचंद ने 14 दिसंबर 2020 को सेक्टर-एक में एक अधिवक्ता के घर में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। इसी दिन माडल टाउन थाना पुलिस ने अधिवक्ता सहित चार लोगों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज किया था। दीपचंद की जेब से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ था, जिसमें उन्होंने चारों पर जमीन हड़पने और पैसे नहीं देने का आरोप लगाया था। दीपचंद ने चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की नौकरी के लिए पांच लाख रुपये देने की बात भी लिखी हुई थी। चारों ही आरोपित ऊंची राजनीतिक पहुंच रखते हैं। आरोपितों द्वारा मामले में फैसला करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। धमकी दी जा रही है कि यदि फैसला नहीं किया तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे। वारदात के इतने माह बीत जाने के बाद भी पुलिस ने एक भी आरोपित को गिरफ्तार नहीं किया है। उनके परिवार के साथ कोई भी अप्रिय घटना घट सकती है। पीड़िता ने आरोपितों को गिरफ्तार करने की गुहार लगाई है।

Edited By: Jagran