संवाद सहयोगी, धारूहेड़ा : यहां के व्यापारी को मसाले भेजने का झांसा देकर दिल्ली की एक कंपनी ने लाखों रुपये ठग लिए। कंपनी के अधिकारी कार्यालय पर ताला लगा कर गायब हो गए। ठगी का पता लगने के बाद मसाला व्यापारी द्वारा पुलिस अधीक्षक को शिकायत दी गई। धारूहेड़ा थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस को दी शिकायत में बिहार के जिला शिवहर के गांव बीरा छपरा निवासी जितेंद्र कुमार ने कहा है कि वह पिछले 9 वर्ष से धारूहेड़ा की भूप सिंह कालोनी में मकान बना कर रह रहे है तथा मसालो का व्यापार करते है। 12 मई को उनका दिल्ली की एक कंपनी से मसाले खरीदने के लिए आनलाइन संपर्क हुआ था। कंपनी द्वारा उसी दिन एक सप्लायर को धारूहेड़ा भेजा गया था। यहां आने के बाद सप्लायर को उन्होंने 1700 किलोग्राम मसाले का आर्डर बुक कराया था। सप्लायर ने मसाले की कीमत 2.32 लाख रुपये बताई थी। जितेंद्र ने सप्लायर को 75 हजार रुपये नकद दे दिए थे तथा शेष एक लाख 47 हजार रुपये की राशि 16 मई को उनके द्वारा बताए गए केनरा बैंक के खाते में जमा करा दिए थे। पैसों का भुगतान करने के बाद भी कई दिनों तक मसाले नहीं पहुंचे तो उन्होंने सप्लायर से संपर्क किया। सप्लायर की ओर से उन्हें एक ट्रांसपोर्टर के नंबर दिए गए तथा बताया कि माल इसी ट्रांसपोर्ट से भेज गया है। उन्होंने जनकपुरी में ट्रांसपोर्ट से संपर्क किया तो बताया गया कि जल्द ही उनका सामान पहुंच जाएगा। जब सामान नहीं पहुंचा तो उन्होंने सप्लायर व ट्रांसपोर्ट से फोन किया, परंतु किसी ने भी जवाब नहीं दिया। करीब एक माह तक भी मसाले नहीं पहुंचे तो वे दिल्ली जनकपुरी स्थित कंपनी कार्यालय पर पहुंच गए। वे दिल्ली पहुंचे तो कंपनी के कार्यालय पर ताला लटका मिला। आस-पास के लोगों ने बताया कि कंपनी कई लोगों के साथ ठगी कर फरार हो गई है। यहां पर बहुत से लोग पूछताछ के लिए आ चुके है। अपने आप को ठगे जाने का पता लगने के बाद जितेंद्र ने मामले की शिकायत पुलिस को दी। धारूहेड़ा थाना पुलिस ने जितेंद्र कुमार की शिकायत पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप