मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, कुंड : क्षेत्र के गांव पाली स्थित पंजाब नेशनल बैंक में शुक्रवार को कैशियर के केबिन में लगी आग के मामले में नया मोड़ आ गया है। सामने आया है कि बैंक के कैशियर ने ही आगजनी की वारदात को अंजाम दिया और इसकी आड़ में लाखों रुपये हड़प लिए। शाखा प्रबंधक द्वारा कैशियर के खिलाफ गबन व सबूत मिटाने के लिए आग लगाने का आरोप लगाते हुए खोल थाना में शिकायत दर्ज कराई गई है। शुक्रवार को लगी थी आग

गांव पाली स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में शुक्रवार को अचानक कैशियर के केबिन में आग लग गई थी। आग में कैशियर गांव कंवाली निवासी जगदीश चंद्र भी झुलस गया था और केबिन में रखा कंप्यूटर व करीब साढ़े चार लाख की नकदी जले का दावा किया गया था। उस समय आग लगने का कारण केबिन में लगी बिजली की तारों में शार्ट सर्किट होना माना जा रहा था। धुएं की आड़ में गायब की नकदी

आग लगने की घटना के बाद बैंक द्वारा जांच की गई तो कैशियर द्वारा किया गया गबन सामने आ गया। शुरूआती जांच में सामने आया है कि आगजनी के पीछे कैशियर का ही हाथ था। कंप्यूटर में शार्ट सर्किट भी जानबूझकर किया गया। आग लगने पर जो धुआं हुआ, उसकी आड़ में कैशियर ने ही लाखों रुपये अपने पास छिपा लिए तथा कुछ नोट आग में जला दिए। बैंक का साढ़े चार लाख रुपये का कैश कम मिला तो कैशियर ने बताया कि सारा पैसा आग में ही जल गया। इस बात पर बैंक प्रबंधक को संदेह हुआ और शुरूआती जांच में ही सामने आ गया कि लाखों की नकदी कैशियर ने ही गायब की है। अपनी शिकायत में शाखा प्रबंधक विजय ¨सह ने कहा है कि कैशियर जगदीश चंद्र द्वारा बैंक में साढ़े चार लाख रुपये का गबन किया गया है। पुलिस ने कैशियर के खिलाफ गबन करने, आग लगाने व सबूत मिटाने का मामला दर्ज कर लिया है।

----------

बैंक के शाखा प्रबंधक द्वारा कैशियर के खिलाफ गबन का आरोप लगाते हुए शिकायत दी गई है। शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है तथा जांच के बाद ही पूरा मामला सामने आ पाएगा।

-एएसआइ धनराज ¨सह, जांच अधिकारी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप