पानीपत/जींद, जेएनएन। बाइक को साइड लगने के दौरान हुए विवाद के बाद समझौते के लिए बुलाकर एक युवक की सुआ घोंपकर हत्या कर दी। हमलावरों ने मृतक के दोस्त पर भी सुआ से हमला किया, लेकिन उसने भागकर जान बचा ली। युवक की हत्या से आक्रोशित परिजनों ने वीरवार दोपहर को भिवानी रोड को एक घंटे जाम रखकर आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की। रेलवे पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को नामजद करके अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है।

खेम नगर निवासी शिवम ने रेलवे पुलिस को दी शिकायत में बताया कि तीन दिन पहले उसका चचेरा भाई 17 वर्षीय हरजीत सिंह व उसका दोस्त अंकित किसी काम के लिए बाजार की तरफ गए हुए थे। जब वह फव्वारा चौक पर पहुंचे तो वहां से निकल रहे अजमेर बस्ती निवासी विशाल की बाइक से उनकी बाइक साइड लग गई। जहां पर तीनों के बीच में कहासुनी हो गई। उस समय तो उन्होंने साइड लगने के लिए माफी मांग ली, बावजूद उसके विशाल ने उनके साथ रंजिश बनाए रखी। 

बुधवार शाम को अंकित की बहन रुबी को रोहतक रोड बाईपास पर स्थित एक अस्पताल में लड़की को जन्म दिया था। जहां पर हरजीत, अंकित वहीं पर गए हुए थे। इसी दौरान अजमेर बस्ती निवासी सतनाम सिंह का फोन आया कि वह सिटी रेलवे स्टेशन के निकट आ जाए, वहां पर विशाल के साथ जो झगड़ा हुआ है उसका समझौता करवा देंगे। सतनाम सिंह की बातों में आकर हरजीत, उसका दोस्त अंकित बाइक पर सवार होकर सिटी रेलवे स्टेशन के निकट पहुंच गए। 

murder

सतनाम सिंह अकेला खड़ा था। इसी दौरान विशाल व उसके दोस्त बर्फ तोडऩे के सुआ व लोहे की राड लेकर पहुंचे। जहां पर विशाल ने आते ही हरजीत सिंह के सिर पर सुओं से हमला करना शुरू कर दिया। जब अंकित ने बचाने का प्रयास किया तो उस पर भी सुआ से वार किया और उसके सिर में मामूली से लगा। इसी दौरान वहां पर उनका रिश्तेदार अमीर सिंह पहुंच गया और उन पर हमला होता देखकर उसने हमलावरों पर ईंटों से हमला कर दिया। इसके बाद आरोपित हरजीत को छोड़कर फरार हो गए। हरजीत को नागरिक अस्पताल में दाखिल किया। जहां से चिकित्सकों ने उसे पीजीआइ रोहतक रेफर कर दिया। जहां पर उपचार के दौरान मौत हो गई। जीआरपी थाना प्रभारी नरेश कुमार पुलिस ने अजमेर बस्ती निवासी विशाल, सतनाम, सोनू, नीतिन, जुबीन को नामजद करके एक अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। 

हमने माफी भी मांगी ली थी, उसके बाद भी किया हमला 

हरजीत के दोस्त अंकित ने बताया कि तीन दिन पहले फव्वारा चौक पर बाइक की साइड लगी उस समय विशाल अपने बाइक पर अपनी मां व बहन को बैठाए हुए थे। जहां पर विशाल ने उनके साथ झगड़ा किया और मारपीट करनी चाही तो उन्होंने मौके पर ही माफी मांग ली थी। माफी मांगने के बाद भी विशाल उनको धमकी दे रहा था। विशाल व उसके दोस्तों ने साजिश के तहत हत्या की है। जब वह सिटी रेलवे स्टेशन के निकट पहुंचे तो हमलावर विशाल व उसके दोस्त हथियारों को लेकर वहां पर पेड़ों के पीछे छुपे हुए थे। हरजीत की हत्या के बाद उसे भी हमला किया, लेकिन उसकी किस्मत अच्छी थी कि पीछे से उनका रिश्तेदार अमीर बाइक लेकर पहुंच गया और उसने मामला समझते ही उन पर ईंटों से हमला करना शुरू कर दिया। इस दौरान आरोपित केवल उसके सिर में एक बारह ही सुआ से हमला कर सके, लेकिन वह सही तरीके से नहीं मार पाए। 

एक घंटा जाम रहने से वाहनों की लगी लंबी लाइन 

रेलवे पुलिस जब मृतक हरजीत के शव का पीजीआई में पोस्टमार्टम करवा रही थी तो परिजनों ने भिवानी रोड रेलवे फाटक के निकट रोड जाम कर दिया। जहां पर परिजनों ने कहा कि हमलावरों से अंकित को भी जान का खतरा है, इसलिए आरोपितों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। शहर थाना प्रभारी दिनेश कुमार ने मौके पर पहुंचकर परिजनों को आश्वासन दिया कि जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा, लेकिन परिजन जाम खोलने के लिए तैयार नहीं हुए। काफी समझाने के बाद एक घंटे बाद जाम खोला। जाम के कारण भिवानी मार्ग पर वाहनों की लंबी लाइन लग गई। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस