जागरण संवाददाता, पानीपत : बाइक तेज चलाने और गली में पड़े कूड़े के ढेर को लात मारने के विवाद में जगजीवनराम कालोनी में युवक के सीने में छुर्रा व सुआ (धारदार हथियार) घोंपकर हत्या कर दी। युवक को छुड़ाने आए भाई व बहन को भी डंडों से पीटा। हत्या आरोपितों ने आधे घंटे तक तांडव मचाया, लेकिन कॉलोनी के लोग कुछ नहीं कर सके। वारदात सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गई है। जगजीवनराम कॉलोनी से लगती ही खटीक बस्ती में 14 सितंबर की रात को पीट-पीटकर एक नाबालिग की हत्या कर दी गई थी।

घटना रविवार शाम 6:15 बजे की है। जगजीवनराम कॉलोनी के संजू ने जागरण को बताया कि उनके पिता हनीफ अंसारी ने सेक्टर 29 पार्ट वन में लेबर मुहैया कराने का ठेका ले रखा है। छोटा भाई 19 वर्षीय समीर भी पिता के पास काम करता था। एक सप्ताह पहले समीर जगजीवन राम कॉलोनी के सूरज, हरीश व कालू के मकान के पास से गली से तेज गति से बाइक लेकर निकला। इसी वजह से आरोपितों ने भाई के साथ मारपीट की। भाई ने इस बारे में उन्हें अवगत नहीं कराया। रविवार दोपहर को समीर आरोपितों के मुहल्ले में गया और कूड़े के ढेर को लात मार दी। इसके बाद भाई, फुफेरे भाई राशिद की सैलून की दुकान पर आकर बैठ गया। इसी दौरान उसे गली में शोर सुनाई दिया। घर से बाहर निकलकर देखा तो सूरज, हरीश, रतन लाल, विक्की, सोनू, कालू ने अन्य कई युवकों के साथ मिलकर समीर को डंडों से पीट रहे थे। भाई की छाती पर धारदार हथियार से हमला किया। जान बचाने के लिए भाई घर के आंगन में गिर गया। वहां भी आरोपितों ने पीटा और अधमरा किया। वह और बड़ी बहन अंजुम छुड़वाने लगे तो आरोपितों ने उन्हें भी पीटा। समीर के परिवार में बड़ी बहन अंजुम, बड़ा भाई आशिक, सोनू, संजू और छोटा भाई वसीम है।

पांच अस्पतालों में लेकर घूमे, जान नहीं बच पाई

मृतक के बड़े भाई सोनू ने बताया कि वह घायल भाई समीर को लेकर हैदराबादी अस्पताल ले गया, जहां से रेफर कर दिया। इसके बाद महाराजा अग्रसेन अस्पताल, पार्क अस्पताल, प्रेम अस्पताल और सामान्य अस्पताल ले गए। जहां से रोहतक पीजीआइ रेफर किया। रास्ते में समीर की मौत हो गई। सोमवार को सामान्य अस्पताल के दो डाक्टरों के बोर्ड ने शव पोस्टमार्टम करके शव को स्वजनों को सौंप दिया। डाक्टर ने बताया कि धारदार हथियार से फेफड़े फटने व खून ज्यादा बहने से समीर की मौत हुई है। शरीर पर चोट के कई निशान थे।

बाइक ले जाते, मार क्यों डाला

स्वजनों को रो-रोक कर बुरा हाल था। कह रहे थे, हमारे बेटे को क्यों मार डाला। अगर उन्हें लगता था कि समीर बाइक तेज चलाता है, तो वैसे ही मना करत देते। बाइक ही ले जाते। मार क्यों डाला। कम से कम समीर की जान न लेते।

नशे का होता है कारोबार, युवक नशा कर मारपीट करते हैं

जगजीवनराम कॉलोनी के रियाज और मुखितयार ने बताया कि कॉलोनी में अवैध शराब और स्मैक का नशा बेचा जाता है। युवक नशा करके मारपीट करते हैं। आरोप है कि पुलिस नशा के अवैध कारोबारियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करती है।

-----------

प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि समीर के साथ पहले गाली-गलौज हुई थी। इसके बाद उसकी हत्या कर कर दी गई है। हत्या के आरोप में सूरज, हरीश, विक्की, सोनू और कालू के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। आरोपितों की तलाश की जा रही है।

अंकित कुमार, प्रभारी, थाना चांदनी बाग।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस