यमुनानगर, जागरण संवाददाता। छेड़छाड़ का विरोध करने पर 22 वर्षीय युवती पर डेरा शाहपुरा निवासी हजारा सिंह ने फायरिंग की। युवती किसी तरह से जान बचाकर मौके से भाग निकली। मामले में छछरौली थाना पुलिस ने केस दर्ज कर लिया। आरोपित की तलाश की जा रही है।

पुलिस को दी शिकायत के मुताबिक, छछरौली निवासी युवती जगाधरी के निजी अस्पताल में बतौर रिसेप्शनिस्ट नौकरी करती है। ड्यूटी से आते व जाते समय हजारा सिंह उसका पीछा करता था। करीब नौ माह से आरोपित पीछे पड़ा था। युवती के मोबाइल नंबर पर अलग-अलग नंबरों से काल कर परेशान करता था। आरोपित हजारा सिंह उस पर फ्रेंडशिप करने का दबाव बना रहा था।

युवती पहले उसको नजरदांज करती रही। जब उसकी हरकत काफी बढ़ गई, तो युवती ने उसे साफ इन्कार कर दिया। इसके बावजूद आरोपित उसका पीछा करता रहा। उसे काल करता रहा। छह दिन पहले वह ड्यूटी के लिए जा रही थी। इसी दौरान आरोपित उसके घर के बाहर गली में खड़ा था। आरोपित ने उसका रास्ता रोक लिया। उसे धमकी दी कि यदि वह उससे बात नहीं करेगी, तो एक सप्ताह में इसका अंजाम भुगतना होगा। किसी तरह से युवती वहां से ड्यूटी पर चली गई।

शुक्रवार की देर शाम वह ड्यूटी से लौट रही थी। वह छछरौली बस अड्डा से अपने घर की ओर जा रही थी, तो मेन बाजार में हजारा सिंह खड़ा मिला। उससे बचकर वह चौक से गली में घुस गई। आरोपित उसके पीछे-पीछे बाइक पर आया और फायर कर दिया। किसी तरह से वह बच गई। गोली जाकर गली में लगी। आसपास के लोग गोली की आवाज सुनकर एकत्र हुए, तो आरोपित वहां से जान से मारने की धमकी देकर भाग निकला।

युवती ने पहले भी दी थी शिकायत

युवती का पिता मजदूरी करता है। मां घर का कार्य करती है। करीब छह माह पहले युवती ने आरोपित हजारा सिंह के खिलाफ थाने में शिकायत दी थी। बाद में दोनों पक्षों का समझौता हो गया था। युवती के परिवार के लोग भी बेहद साधारण हैं। उन्होंने इस मामले को आगे नहीं बढ़ाया। इसी वजह से आरोपित का हौंसला बढ़ गया था और वह युवती को लगातार परेशान करने लगा था। अब फायरिंग की घटना से युवती दहशत में है। छछरौली थाना प्रभारी पृथ्वी सिंह ने बताया कि आरोपित पर केस दर्ज कर लिया गया है। उसकी तलाश की जा रही है।

Edited By: Anurag Shukla