पिहोवा/कुरुक्षेत्र, जेएनएन। पिहोवा के गांव अरुणाये में भाई हरदीप सिंह की हत्या करने वाले उसके छोटे भाई निक्का उर्फ दलजीत सिंह को पुलिस ने देर रात ही काबू कर लिया। आरोपित से पूछताछ के दौरान उसने बताया कि उसने ही गुस्से में आकर अपने भाई हरदीप सिंह का चाकू मारकर उसकी हत्या की है।

इस काम में उसकी मां पलबिंद्र कौर ने सबूत मिटाने के लिए उसका साथ दिया था। जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने हरदीप सिंह की हत्या में निक्का उर्फ दलजीत सिंह के साथ-साथ अब उसकी मां को भी नामजद कर लिया है। पुलिस ने आज आरोपित की निशानदेही पर हत्या में प्रयोग किया गया चाकू, खून से लथपथ कपड़े, बोरियां व टाट बरामद कर उसे न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

एसएचओ देवेंद्र कुमार ने बताया कि 19 मार्च को गांव अरुणाये निवासी जयकिशन ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी कि उसका बेटा हरदीप सिंह (34) शराब पीने का आदि था, जोकि अक्सर शराब के नशे में परिजनों व आस पड़ोस के लोगों के साथ गाली गलौज व लड़ाई-झगड़ा करता था। जिस कारण वह व उसका परिवार उसकी हरकतों से परेशान रहते थे। शिकायतकर्ता अनुसार चौकीदारी का काम निपटा कर जैसे ही वह अपने घर के समीप पहुंचा तो देखा कि उसके बेटे हरदीप की लाश घर की दीवार के साथ लगती गली के नाले में पड़ी थी।

पुलिस ने जयकिशन की शिकायत पर आरोपित निक्का उर्फ दलजीत के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम करवाने के पश्चात उसे परिजनों के हवाले कर दिया था। एसएचओ देवेंद्र कुमार ने बताया कि देर रात्रि उन्हें सूचना मिली थी कि आरोपित निक्का उर्फ दलजीत सिंह गांव अरुणाये के समीप नए बाईपास के पास लिफ्ट लेकर भागने की फिराक में खड़ा है। उन्होंने तुरंत पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंच कर  निक्का उर्फ दलजीत ङ्क्षसह को काबू किया था।

पूछताछ में उसने जो बात बताई वह चौकाने वाली थी क्योंकि हरदीप सिंह की हत्या में उसकी मां पलबिंद्र कौर ने अपने बेटे निक्का उर्फ दलजीत सिंह का साथ देते हुए साक्ष्य को मिटाने का काम किया था। एसएचओ देवेंद्र कुमार ने बताया कि पूछताछ के दौरान आरोपित ने बताया कि हरदीप हत्या के बाद उसके कपड़ों पर खून लग गया था। जिसे धोने के बाद उसने कपड़ों को एक प्लास्टिक के लिफाफे में डालकर बैड के नीचे छिपा दिया था। उसके बाद उसने बाथरूम व आंगन में हरदीप सिंह बिखरे खून को अकेले ने ही साफ कर दिया था।

जिन बोरियों व टाट का वारदात के समय इस्तेमाल किया गया था उसे उसने सरकारी स्कूल के समीप लगी कुरडी में दबा दिया था। हत्या में प्रयोग किए गए चाकू को पानी से धो कर मकान के आगे बने नाले में छिपा दिया था। जिसे पुलिस ने उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयोग की गई सभी चीजों को बरामद कर लिया। थानाध्यक्ष देवेंद्र कुमार ने बताया कि निक्का उर्फ दलजीत को हत्या के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसे आज न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। उन्होंने बताया कि जल्द ही हत्या में साथ देने वाली हत्यारोपी की मां पलबिंद्र कौर को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

 

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस