पानीपत/जींद, [कर्मपाल गिल]। दिल्ली-कटरा-अमृतसर एक्सप्रेस-वे पर काम शुरू हो गया है। नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआइ) ने करीब 30 हजार करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट पर हरियाणा में डीपीआर तैयार करने का टेंडर जारी कर दिया है। अगले एक महीने के अंदर जमीन अधिग्रहण के लिए अधिसूचना जारी होने की संभावना है। हरियाणा में यह एक्सप्रेस-वे छह जिलों से होकर गुजरेगा।

भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत बनने वाला यह एक्सप्रेस-वे हरियाणा में झज्जर से शुरू होगा और रोहतक, सोनीपत, करनाल, जींद जिलों से होते हुए कैथल जिले में पंजाब की सीमा पर खत्म होगा। करीब 575 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे के लिए हरियाणा में डीपीआर तैयार कर रही मै. फीडबैक इन्फ्रा प्रा. लि. ने ड्रोन से सर्वे शुरू कर दिया है। 

गांवों का राजस्व रिकॉर्ड होगा

यह राजमार्ग जिन गांवों से होकर गुजरेगा, उनका राजस्व रिकॉर्ड भी जुटाया जा रहा है। इस राजमार्ग के प्रोजेक्ट डायरेक्टर केएम शर्मा ने बताया कि एक-डेढ़ महीने में जमीन अधिग्रहण के लिए अधिसूचना जारी कर दी जाएगी। अमृतसर होकर कटरा तक जाने वाले इस एक्सप्रेस-वे बनने के बाद सड़क मार्ग से श्री माता वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए जाने वाले श्रद्धालु अमृतसर में स्वर्ण मंदिर के दर्शन भी आसानी से कर सकेंगे। यह प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद दिल्ली से कटड़ा करीब सात घंटे में पहुंचा जा सकेगा, जबकि दिल्ली से जम्मू पहुंचने में लगभग छह घंटे ही लगेंगे। अभी दिल्ली से कटड़ा पहुंचने में करीब बारह घंटे का समय लगता है।   

प्रदेश में लगभग 170 किलोमीटर रहेगी दूरी

केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितीन गडकरी की घोषणा पर करीब दो साल पहले नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इस प्रोजेक्ट का प्रस्ताव तैयार किया था। हरियाणा में इस प्रोजेक्ट की लंबाई 170 किलोमीटर रहेगी, जबकि पंजाब में यह 300 किलोमीटर लंबा रहेगा। यह एक्सप्रेस-वे शुरू होने के बाद अमृतसर व कटड़ा एक ही कॉरिडोर पर आ जाएंगे, जिससे पर्यटकों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी।

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस