पानीपत, जेएनएन। पानीपत में कोरोना महामारी की विभीषिका को देखते हुए समालखा उपमंडल अस्पताल में हवा से ऑक्सीजन बनाने वाली मशीन के लिए फाउंडेशन वर्क शुरू कर दिया है। ये काम नेशनल हाईवे अथारिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआइ) की ओर से वेल्सपन कंपनी ने शुरू किया हैै। 7 दिन में मशीन का काम पूरा हो जाएगा। अस्पताल में टैंक, सप्लाई मशीन और गैस पाइप लाइन की सुविधा पहले से है।

कोपको कंपनी द्वारा जनरेटर और कंप्रेशर लगाया जाएगा। हवा से ऑक्सीजन गैस लेकर कंप्रेस कर उसे लिक्विड में परिवर्तित करेगी। पहले से बने ऑक्सीजन टैंक में जमाकर उसे मशीन व पाइप लाइन के जरिए मरीज के बेडों पर जाएगी। कंपनी के इंजीनियर सुकांत राय ने बताया कि मशीन की क्षमता प्रति घंटा 200 लीटर ऑक्सीजन तैयार कर सकेगी। अस्पताल के अलावा दूसरी जगह भी इसकी सप्लाई दी जा सकेगी। मशीन केमिकल के जरिए हवा से ऑक्सीजन को सोखेगी। फिर उसे ऋणात्मक तापमान पर द्रवित कर टैंक में भरेगी।

दो सालों की मुराद होगी पूरी

100 बेड के उपमंडल अस्पताल में दो सालों से ऑक्सीजन की सुविधा नहीं होने से मरीजों सहित कर्मचारियों को दिक्कत हो रही थी। सिलेंडर से काम चलाया जा रहा था। एक साथ कई मरीजों के आने पर दिक्कत का सामना करना पड़ता था। मरीजों को पानीपत सहित अन्य अस्पतालों में रेफर करना पड़ता था। एसएमओ संजय कुमार ने बताया कि नेशनल हाईवे प्राधिकरण की ओर से यह डोनेट किया गया है। इससे मरीजों को सुविधा मिलेगी। उन्होंने अस्पताल में डॉक्टरों और उपकरणों की कमी को लेकर उच्चाधिकारी को लिखा है। फिलहाल तीन डॉक्टरों के सहारे अस्पताल चल रहा है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

यह भी पढ़ें:  कोरोना महामारी के बीच आई नई मुसीबत, ऑक्सीजन भी होने लगी चोरी, पानीपत रिफाइनरी का टैंकर ले उड़े चोर

यह भी पढ़ें: 'सॉरी' लिखकर चोर ने लौटाई कोरोना वैक्सीन, हरियाणा में सामने आया चौकाने वाला मामला