पानीपत, जेएनएन। गुजरात में सोमनाथ मंदिर के पास खड़े होकर उसे लूटने वाले महमूद गजनवी की तारीफ कर वीडियो वायरल करने वाला मौलाना इरशाद रशीद बलजीत नगर कालोनी में मदरसा खोल 50 बच्चों को इस्लामिक शिक्षा दे रहा था। रशीद दीनानाथ कालोनी स्थित मस्जिद में नमाज भी अता कराता था। गुजरात पुलिस से रशीद की दो दिन पहले बात हुई। इसके बाद से मदरसा बंद है।

रशीद की पत्नी ने बताया कि पुलिस की कॉल आने पर पति ने कहा था कि वह खुद गुजरात आ जाएगा। गलती हो गई है। इसके बावजूद पांच पुलिसकर्मी आए और मदरसे के पास उसके मकान से रशीद पति को गिरफ्तार करके ले गए। घटना के बाद से वह जेठ के घर आठ बच्चों के संग रह रही है।

बता दें कि इरशाद रशीद ने गुजरात के ऐतिहासिक सोमनाथ मंदिर से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर खड़े होकर वीडियो बनाकर वायरल कर दी। इसमें वह मंदिर की ओर इशारा करते हुए कहता है कि यह वही मंदिर है, जिसे महमूद गजनवी व मुहम्मद कासिम ने फतह किया था। मामले में सोमनाथ ट्रस्ट के प्रबंधक विजय ङ्क्षसह चावड़ा ने पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी।

रशीद ने मस्जिद में नमाज अता करने से रोका था, झगड़ा हो गया था

दलबीर नगर मस्जिद के पूर्व प्रधान ने बताया कि दो साल पहले इरशाद रशीद ने मस्जिद में आए एक व्यक्ति को नमाज अता करने से रोक दिया था। इसको लेकर झगड़ा हो गया था। रशीद ने उसके बारे में भी रिश्तेदारों को अभद्र शब्द कहे थे। इसके बाद से उसने रशीद से किनारा कर लिया था।

पत्नी बोली-गजनवी की तारीफ कर गलती की

इरशाद रशीद की पत्नी अफसाना ने कहा कि सभी धर्मों का सम्मान करना चाहिये। पति ने महमूद गजनवी की तारीफ कर गलती कर दी है। इससे दूसरे मजहब के लोगों की धार्मिक भावना को ठेस पहुंची है। पति को ऐसी टिप्पणी से बचना चाहिये था। जब से पुलिस पति को साथ ले गई है तब से उनका मोबाइल फोन बंद है। अब कानून अपना काम करेगा।

रशीद की गिरफ्तारी से पड़ोसी भी हैरान

पड़ोसी सुभाष और पुष्पा ने बताया कि वे हैरत में हैं कि रशीद को पुलिस पकड़ ले गई है। वह सभी के साथ अच्छा व्यवहार रखता था। उन्हें पुलिस के जाने के बाद पता चला कि रशीद ने गुजरात में कोई वीडियो वायरल कर गजनवी की तारीफ की है।

आठ भाई-बहनों में छठे नंबर का है रशीद

इरशाद रशीद उत्तर प्रदेश के जिला शामली के भड़ी गांव का रहना वाला है। 15 साल पहले उसका परिवार पानीपत आकर बस गया था। पांच भाइयों व तीन बहनों में वे छठे नंबर का है। पिता अब्दुल रशीद का देहांत हो चुका है। कई जानकारों का कहना है कि इरशाद वाट्सएप और फेसबुक पर आपत्तिजनक बात करता रहता था। उसे समझाने का प्रयास किया तो वे झगड़े पर आमादा हो जाता था।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021