जागरण संवाददाता, पानीपत : परिवार माता के जागरण में गया था। वहां से खाना खाकर सभी लौटे तो देखा कि घर में लाखों की चोरी हो चुकी थी। परिवार को शक है कि किसी जानकार ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया है क्योंकि ऐसा लग रहा है कि उसे घर के बारे में सब कुछ पता था।

नूरवाला में गुरुद्वारा वाली गली में रहने वाले सुनील कुमार ने किला थाना पुलिस को बताया कि वह मारुति कंपनी में सर्विस मैनेजर हैं। परिवार सहित कच्चा कैंप में माता के जागरण में गए थे। पत्नी और तीनों बच्चे साथ थे। जागरण में खाना खाने के बाद घर लौटे तो देखा कि मेन गेट की अंदर से कुंडी लगी हुई थी। यह देखकर वह दंग रह गए।

पड़ोसी की सीढि़यों से अंदर गए। मकान के अंदर वाले गेट का ताला टूटा हुआ था। अंदर सामान बिखरा हुआ था। अलमारी टूटी हुई थी। 95 हजार नकदी, सोने की एक तोले की चेन, दो अंगूठी, दो पायल, पांच जोड़ी कान की बाली, घर की एलसीडी ले गए। गहनों की कीमत करीब ढाई लाख रुपये है।

सुनील का कहना है कि वह अंदर के कमरों पर ताला लगाकर अंदर रख देते थे। मेन गेट की चाबी उनके पास होती थी। चोरों को पता था कि अंदर के कमरों की चाबी कहां पर है। वहीं से चाबी उठाई। चोरों ने ताले नहीं तोड़े, बल्कि उसी चाबी से खोले हैं। पुलिस अब आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगालकर चोरों के बारे में पता लगा रही है। उनके जानकारों से भी पूछताछ की जाएगी।

Edited By: Jagran