कुंजपुरा (करनाल), संवाद सहयोगी। यमुना का जलस्तर बढ़ने का असर खेतों में फसलों पर ही नहीं, बल्कि तमाम मार्गों पर भी पड़ा है। जिले में सबसे गंभीर स्थिति हरियाणा के शेरगढ़ टापू गांव से उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के गंगोह को जोड़ने वाले मार्ग पर बनी है, जहां करीब 24 घंटे से सड़क पर पूरी तरह पानी भर जाने के कारण आवागमन ठप है। इससे दोनों राज्यों का संपर्क टूट गया है। हालांकि लोगों ने ट्रैक्टर से दूसरी ओर जाने का प्रयास जरूर किया लेकिन ऐसा करते समय एक ट्रैक्टर पानी में ही फंस गया। इस बीच मंगलवार शाम पानी कुछ कम होने से लोगों को उम्मीद बंधी है कि अब जल्द स्थिति सामान्य हो जाएगी।

दोनों तरफ से पानी का बहाव तेज

पर्वतीय क्षेत्रों में लगातार बरसात के चलते यमुना नदी में हथिनी कुंड बैराज से काफी पानी छोड़ दिया गया है। इसी के नतीजे में हरियाणा को उत्तर प्रदेश से जोड़ने वाले जिले के शेरगढ़ गांव के पास बने पुल पर पानी ऊपर तक चढ़ आया है। करीब 24 घंटे से यहां काफी तेजी से पानी बहने के कारण दोनों तरफ से आने-जाने वालों को रोक दिया गया है ताकि जानमाल का नुकसान न हो। लेकिन मौजूदा हालात में दोनों राज्यों में काफी गांवों के बाशिंदों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्र में धान की फसलें भी पानी में डूबने से खराब हो गई हैं। इससे प्रभावित लोगों ने शासन प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। इस स्थिति में शेरगढ़ टापू, मोदीपुर, जड़ौली कलां और डबकौली कलां सहित अन्य गांवों के लोग सर्वाधिक परेशान हैं।

वैकल्पिक मार्गों का करें प्रयोग

शेरगढ़ टापू गांव का यह पुल हरियाणा को उत्तर प्रदेश के गंगोह व सहारनपुर को जोड़ता है। यहां हरियाणा की दिशा में बनी पुलिस चौकी के नजदीक पुलिया पर तेज बहाव से पानी चल रहा है। पुलिस की ओर से सभी को चेतावनी दी गई है कि जब तक पानी खत्म न हो, तब तक कोई भी इस पुल से न आये। मौजूदा हालात में सभी यात्री करनाल-बिड़ौली मार्ग का इस्तेमाल करें।

खतरा उठा रहे ट्रैक्टर चालक

पुल पर कई फुट पानी चलने के कारण कुछ लोग खतरा उठाकर लेकर ट्रैक्टर-ट्राली द्वारा यात्रियों और बाइक, साइकिल आदि लेकर पानी में उतर रहे हैं। लेकिन ट्रैक्टर ट्राली में भी पानी भर रहा है। इसी के चलते मंगलवार देर शाम तक एक ट्रैक्टर यहां फंसा रहा। ऐसे में साफ है कि यदि ट्रैक्टर ड्राइवर से जरा सी भी चूक हो गई तो काफी जान-माल का नुकसान हो सकता है। हालांकि मंगलवार शाम को पानी कम होने से लोगों को उम्मीद बंधी है कि स्थिति जल्द सामान्य हो जाएगी।

पानी से लबालब भरे रास्ते

जिले के गढ़ी बीरबल क्षेत्र में भी कई गांवों को मुख्य सड़क से जोड़ने वाले रास्ते पानी से लबालब भर गए हैं। इनमें नगली गांव में मुख्य सड़क से पानी गुजरने के कारण हलवाना, नगली, सैयद छपरा, जप्ती छपरा व नबियाबाद आदि गांवों के लोगों को आवागमन में परेशानियों से जूझना पड़ रहा है।

Edited By: Naveen Dalal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट