फोटो 18

-जून की शुरुआत में 10 रुपये किलो बिकने वाला टमाटर 60 रुपये बिका जागरण संवाददाता, पानीपत : एक सप्ताह में सब्जियों के दामों में ढाई गुना की तेजी आ चुकी है। एक तरफ आम उपभोक्ताओं को महंगाई का सामना करना पड़ रहा है, दूसरी तरफ उत्पादन करने वाले किसानों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। किसानों से अधिक फायदा बिचौलियों को मिल रहा है। जून के बाद टमाटर में सबसे अधिक तेजी दर्ज की गई है। जून की शुरुआत में 10 रुपये प्रति किलोग्राम तक टमाटर बिका था। अब छह गुना बढ़कर 60 रुपये किलो पर पहुंच गया है। करेला, शिमला मिर्च, मटर, भिडी के दामों में दो गुना तक की तेजी आ चुकी है। लोकल स्तर पर हरी सब्जी की आवक कम हो गई है। बारिश आती है तो सब्जियों के दामों में और अधिक उछाल आने की आशंका है। सब्जी कारोबारियों का कहना है कि धनिया 200 रुपये किलो तक पहुंच गया है।

पिछले तीन दिनों में खीरे के दाम में भी मानों आग लग गई हो। पोली हाउस का खीरा 60 रुपये किलो बिक रहा है। इसके दाम 20 रुपये किलो थे। तीन बड़े कारण

1- सब्जियों में आई इस अनावश्यक तेजी का कारण होटल ढाबे, रेस्त्रां में सब्जियों की मांग बढ़ना है।

2- पानीपत में लॉकडाउन के दौरान सब्जी बेचने वालों की संख्या भी बढ़ गई। इस कारण अधिक रेहड़ियां लगने के कारण सब्जियों की कमी बढ़ गई।

3- अन्य प्रदेशों में बारिश होने के कारण आलू और प्याज के दाम तो बढ़े थे, हरी सब्जी के दाम फुटकर विक्रेता अधिक बढ़ा रहे हैं। सब्जी आढ़ती प्रेम आहूजा ने बताया कि बारिश आने पर और तेजी आएगी। एक सप्ताह में सब्जियों के रेट

सब्जी फुटकर एक सप्ताह पहले फुटकर आज थोक भाव

आलू 20-25 30 18

प्याज 15-16 20 11-12

टमाटर 40 60 50-55

मटर 60 80-100 60-70

तरोई 15 25 10

करेला 15-20 30-35 15

लोकी 15-20 25-30 13-14

परवल 20-25 30-35 22

भिडी 15-20 30-35 15

बैंगन 20 30 10

शिमला मिर्च 50-60 60 30-35

अदरक 50 70 50

धनिया 140 200 150

फूलगोभी 25-30 40 30

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस