जागरण संवाददाता, पानीपत : सरकार ने महात्मा ज्योतिबा फुले जयंती से भीमराव आंबेडकर जयंती(14 अप्रैल)तक टीकाकरण महोत्सव मनाने का निर्णय लिया था। लाभार्थियों की उदासीनता से पानीपत में यह आइडिया फ्लाप हो गया। चार दिनों में कुल 36 हजार 500 का टीकाकरण होना था लेकिन 19 हजार 553 (53.57 फीसद) को ही टीका लगा। उधर, बुधवार को 5535 लोगों ने टीका लगवाया है।

वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डा. मनीष पासी ने बताया कि सात स्थानों पर निजी अस्पतालों और 35 स्थानों पर सरकारी फैसिलिटी की ओर से टीकाकरण हुआ। एक दिन का लक्ष्य 9000 निर्धारित था। सुबह नौ से शाम चार बजे तक 61.5 फीसद ही टीका लगवाने पहुंचे। आंबेडकर जयंती पर 45 से 60 साल आयु वर्ग के लाभार्थियों ने जबरदस्त उत्साह दिखाया है। 4002 (लक्ष्य का 44.46 फीसद) ने टीका लगवाया, दूसरी डोज लेने वाले 406 लोग शामिल हैं। सीनियर सिटीजन वर्ग के 1314 लाभार्थियों (लक्ष्य का 16.48 फीसद)ने पहला व दूसरा टीका लगवाया। 40 हेल्थ, नौ फ्रंटलाइन वर्कर्स ने भी वैक्सीनेशन कराया है।

डा. पासी के मुताबिक वीरवार को भी 30 से अधिक स्थानों पर टीकाकरण है। लाभार्थियों की उदासीनता के कारण वैक्सीनेशन में जिला नीचे से सातवें स्थान पर है। लोगों से अपील है कि कोरोना से महाजंग में विभाग का साथ दें। 45 या इससे अधिक आयु के लोग टीका अवश्य लगवाएं।

महोत्सव के चार दिन :

11 अप्रैल का लक्ष्य 5500, टीका लगा 3782

12 अप्रैल का लक्ष्य 11000, टीका लगा 5462

13 अप्रैल का लक्ष्य 11000, टीका लगा 4774

14 अप्रैल का लक्ष्य 9000, टीका लगा 5535

लाभार्थियों के लिए जानना जरूरी

जिला वैक्सीन सेंटर को दो कंपनियों की वैक्सीन कोविशील्ड और को-वैक्सीन मिली है। फिलहाल को-वैक्सीन की डोज सिर्फ उन्हें लगाई जा रही है जिन्हें पहली डोज लगवाए एक माह हो चुका है। डा. पासी ने बताया कि कोविशील्ड की दूसरी डोज डेढ़ माह बाद और दो माह से पहले लगनी है। को-वैक्सीन की दूसरी डोज एक माह पूरा होने और डेढ़ माह पूरा होने से पहले अवश्य लगवा लें।

डिप्टी डायरेक्टर ने किया निरीक्षण

उप निदेशक स्वास्थ्य सेवाएं, हरियाणा डा. रीटा वैक्सीनेशन कार्य का निरीक्षण करने पानीपत पहुंची। सबसे पहले उन्होंने सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा से अपडेट ली। इसके बाद डा. मनीष पासी के साथ सिविल अस्पताल और माडल टाउन स्थित दोनों गुरुद्वारों में चल रहे वैक्सीनेशन कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने जिला में टीकाकरण को गति देने के निर्देश दिए।

कोविन पोर्टल बार-बार बंद

बुधवार को कोविन पोर्टल ने भी हेल्थ वर्कर्स और लाभार्थियों को खूब रुलाया। सुबह नौ से शाम चार बजे तक तीन बार ऐसी स्थिति बनी की कोविन पोर्टल बहुत धीमा हो गया। लाभार्थियों का पंजीकरण नहीं हुआ। किसी को वैक्सीन की डोज लग गई तो मैसेज नहीं मिला।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021