जागरण संवाददाता, पानीपत : दरगाह हजरत शाह सरफूद्दीन बू अली शाह कलंदर का 719वें तीन दिवसीय उर्स महोत्सव के दूसरे दिन पंजाब, राजस्थान, दिल्ली उत्तरप्रदेश से आए कव्वालों ने समां बांध दिया। मुजफ्फरनगर के निजामी इनायत की कव्वाली, मुझे आपने बुलाया ये कर्म है मेरा..पर महोत्सव में मौजूद जायरिनों को नाचने पर मजबूर कर दिया।

उर्स महोत्सव में आइजी सिक्योरिटी हनीफ कुरैशी मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे। विशेष अतिथियों में विधायक रोहित रेवड़ी, सुरेंद्र रेवड़ी, डीसी सुमेधा कटारिया, एसपी संगीता कालिया सहित वक्फ बोर्ड मुख्यालय के उच्च अधिकारी मौजूद रहे। अजमेर दरगाह गद्दी नवीस अंगारे शाह ने मुख्य अतिथि हनीफ कुरैशी सहित अन्य अतिथियों से चादरपोशी करवाई। वक्फ बोर्ड की तरफ से स्मृति चिन्ह दिया गया। देर रात कव्वालियों की महफिल जमी।

दरगाह पर शीश नवाने तथा चादर पोशी के लिए सैकड़ों लोग पहुंचे। कलंदर शाह के आसपास मेले जैसा माहौल रहा। इस अवसर पर सूफी सैय्यद एजाज, अहमद हाशमी, खुर्शीद अहमद, नसीम, राशिद, इरफान अली, इमरान सहित सैकड़ों महिलाएं, बच्चे भी उर्स महोत्सव में शामिल हुए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप