पानीपत, जेएनएन।  एक परिवार को एक ही टोकन में महज पांच किलो राशन देने पर लोग भड़क गए। लोगों ने विरोध जताया। भीड़ अधिक होने से शारीरिक दूरी की भी परवाह नहीं रही। पुलिस को मौके पर बुलाना पड़ा। पुलिस ने पहुंच कर लोगों को घर भेजा। वार्ड 13 की एकता विहार कॉलोनी में गुरुवार को वार्ड 11 के राशन डिपो होल्डर राजेश राशन बांटने के लिए आए थे। उन्होंने एक परिवार को पांच किलो राशन देना शुरू किया। लोगों ने कहा कि एक परिवार में छह सदस्य हैं तो हर व्यक्ति को पांच किलो राशन दिया जाए।

राशन डिपो होल्डर ने कहा कि जो मशीन देगी वही राशन दिया जाएगा। एकता कालोनी के लोग भड़क गए। नारेबाजी शुरू कर दी। मौके पर पार्षद शिव कुमार शर्मा पहुंचे। उन्होंने राशन डिपो धारक को पूरा राशन देने के लिए कहा। पिछली बार 11 किलो राशन दिया गया पिछली बार जिन परिवारों को 11-11 किलो राशन दिया गया था, इस बार 5 किलो राशन देने लगे। इस पर लोगों ने विरोध जताया।

कॉलोनी वासी धर्मवीर सैनी, अशोक कुमार, कमला रानी, बिमला, मोनू, सुदेश, बीना, सुशील पप्पू सहित सैकड़ों लोगों ने एक परिवार को पांच किलो राशन देने पर विरोध जताया।

सरकार को बदनाम कर रहे पार्षद

शिव कुमार शर्मा ने कहा कि प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है। एक टोकन पर पांच किलो राशन दिया जाना चाहिए। पिछली बार जब एक परिवार को 11 किलो की चिट दी गई थी तो इस बार छह किलो राशन क्यों कम किया जा रहा है। लॉकडाउन से लोग भूखे मर रहे हैं। 70-80 किलो राशन ही बंट पाया राशन लेने के लिए 400 लोग पहुंचे। 70-80 लोगों ने राशन लिया। उसके बाद विरोध शुरू होने पर बिना राशन लिए लोग लौट गए। राशन डिपो धारक ने खाद्य आपूर्ति विभाग के इंस्पेक्टर को फोन किया। इंस्पेक्टर ने भी मशीन के अनुसार ही राशन देने की बात कही। यह है मामला सर्वे में टोकन बनाए गए थे। एक आधार कार्ड के हिसाब से टोकन बने थे। जिन लोगों का राशन दिया जाना है, उनके राशन कार्ड नहीं हैं। पिछली बार राशन कार्ड धारकों सहित टोकन के अनुसार राशन दिया गया था। मशीन में किसी टोकन पर पांच से ज्यादा सदस्यों का राशन दिखाया जाता है किसी में एक सदस्य का राशन दिखाया जाता है। सभी समान राशन मांग रहे हैं। राशन डिपोधारक राजेश का कहना है कि हमने मशीन के मुताबिक राशन बांटना है। इस महीने के दो-तीन दिन ही बचे हैं। राशन बंट जाना चाहिए। फिर महीना समाप्त हो जाएगा। राशन उन लोगों का दिया जा रहा है। जिनके राशन कार्ड नहीं है। आधार कार्ड से टोकन बनाया गया है। अंगूठा लगाने पर राशन मशीन में आधार कार्ड का डाटा डाला जाता है। राशन लेने वाले का अंगूठा लगने पर ही राशन मिलता है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस