फोटो संख्या -66

पंचायत मुनादी तो युवा पोस्टरों पर स्लोगन के जरिए ग्रामीणों को कर रहे हैं जागरूक जागरण संवाददाता, समालखा:

कबड्डी की नर्सरी के नाम से भी जाना जाने वाला जिले का गांव बुड़शाम। यहां की आबादी करीब 7000 हजार है। 60 प्रतिशत से ज्यादा लोग शिक्षित हैं। युवाओं ने कोरोना वायरस के खतरे की गंभीरता को समझ ग्राम पंचायत के साथ मिल वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अभियान छेड़ा है। युवाओं ने न केवल गांव के सभी रास्तों पर पहरा बैठा दिया है, बल्कि गली-गली घूम कर लोगों को घर पर रहने और जीवन बचाने के बारे में जागरूक भी कर रहे हैं। साथ ही सैनिटाइजर का छिड़काव भी करा रहे हैं।

महिला सरपंच पति राजकुमार बताते है कि कोरोना वायरस का संक्रमण न फैले, इसे लेकर गांव में बाहरी लोगों के आने पर पाबंदी लगा दी गई है। चाहे ग्रामीणों के रिश्तेदार हों या फेरी लगाने वाले। गांव से नारायणा, नौल्था व पानीपत जाने वाले रास्ते पर युवा शिफ्ट वाइज बैठ कर पहरा दे रहे हैं। जो गांव से दवा, सब्जी और अन्य जरूरत का सामान लाने वाले को ही बाहर जाने देते हैं। इतना ही नहीं, बाकायदा उनका नाम तक रजिस्टर में दर्ज किया जाता है। गांव में बैंक और डाकखाने के साथ एटीएम की सुविधा है। लगातार करा रहे मुनादी

राजकुमार ने बताया कि वायरस के प्रति जागरूकता को लेकर पंचायत ठोस कदम उठा रही है। हर रोज सुबह, दोपहर और शाम को चौकीदार से मुनादी कराई जा रही है। ग्रामीणों को घरों में रहने के साथ साथ दुकान पर सामान लेते समय भी एक मीटर की दूरी बनाकर रखने और ताश खेलने पर मनाही है। उन्होंने कहा कि वायरस के खिलाफ इस अभियान में ग्रामीणों का अच्छा सहयोग मिल रहा है। युवा मंडली कर रही काम

वायरस के खिलाफ अभियान में गांव की युवा मंडली अहम भूमिका निभा रही है। युवा राहुल गुलिया, सोनू शर्मा, राजेंद्र दीक्षित गांव आने वाले रास्तों पर पहरा दे रहे हैं। वो सतर्क रहे, सुरक्षित रहे, स्वस्थ रहे पोस्टर के जरिये लोगों से घरों से बाहर न निकलने का आह्वान कर रहे हैं। दूसरी ओर शिरडी बाबा मंदिर वाली युवा मंडली ने गांव में धूमनी देने का अभियान चलाया हुआ है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस