पानीपत, जेएनएन। पानीपत जीटी रोड पर खून से लथपथ महिला को दौड़ता देख लोग सन्न रह गए। आगे चाकू हाथ में लेकर भागता एक युवक दिखाई दिया। लोग माजरा समझ गए। उन्होंने युवक का पीछा कर पकड़ लिया और उसकी धुनाई कर दी। महिला ने बताया कि तीन युवकों ने उसके गले में चाकू मारा है। उसके अस्पताल में भर्ती कराया गया।

25 वर्षीय राहुल मंगला ने बताया कि उनके पिता राजेश मंगला की गाड़ियों के शीशे की दुकान थी। 10 जनवरी को पिता की हृदयाघात से मौत हो गई थी। बड़ा भाई 26 वर्षीय दीपक बैंक में क्लर्क है। उसका घर के नजदीक ही जीटी रोड पर मोबाइल फोन की दुकान है। घर पर पहली मंजिल पर कमरे में मां 48 वर्षीय नीलम मंगला अकेली थी। दोपहर में तीन बदमाश घर का दरवाजा खोल पहली मंजिल पर पहुंचे और कहा कि आंटी मकान के नीचे के दो कमरे किराये पर लेने आए हैं। मां ने उन्हें दो गिलास पानी दिया। मां जैसे ही उन्हें कमरे दिखाने के लिए सीढि़यों से उतरने लगी तो एक बदमाश ने 1.20 लाख रुपये की कीमत की चेन लूट ली। विरोध करने पर चाकू से गर्दन पर वार कर दिया। 

चाकू छीन पीछे भागी महिला
मां ने चाकू छीन लिया और बदमाशों के पीछे भागी। 50 मीटर दूर चाचा अजय दुकान पर पहुंची और चोर-चोर का शोर मचाया। चोटिल ड्राइवर और दुकानदार ने 300 मीटर पीछा कर बदमाश को पकड़ा नीलम का शोर सुन पड़ोस में अंबा मोटर्स वर्कशॅाप के मालिक पुरानी हाउसिंग बोर्ड के जयकृष्ण ने रीढ़ के दर्द को भुला ग्रिल कूद भाग रहे बदमाशों का पीछा किया। वहीं पैरों मे चोट के बावजूद जगजीवन राम कॉलोनी के दीपक ने ग्रिल कूद जीटी रोड पार कर बदमाशों का पीछा किया। दोनों ने 300 मीटर तक दौड़ते हुए स्वास्तिका रोड स्थित फैक्ट्री के गेट से एक बदमाश को पकड़ लिया। आक्रोशित भीड़ ने बदमाश की जमकर धुनाई की। बदमाश की जान न चला जाए इसलिए उसे दुकान में बंद कर दिया। बदमाश ने लोगों को बताया कि वह करनाल का है। निर्मला को चाकू उसके दोस्त विश्वास ने मारा है।

डीजीपी को कॉल की तो दो मिनट में पुलिस पहुंची
राहुल के दोस्त इशान गुप्ता ने बताया कि वारदात के बाद उसने 100 नंबर पर तीन अलग अलग मोबाइल से 10 मिनट फोन मिलाया। कोई जवाब नहीं मिला तो पिता प्रमोद किशनपुरा चौकी गए। एक दोस्त को गोहाना मोड़ पर वाहनों के चालान कर रहे पुलिसकर्मियों के पास भेजा। आधे घंटे तक पुलिस नहीं आई। इसके बाद बिट्टू ने 12:49 बजे डीजीपी मनोज यादव को सूचना दी। 

दो मिनट में आए पुलिस के दो जवान
इसके दो मिनट बाद सीआइए-टू के दो जवान पहुंचे। बाद में डीएसपी मुख्यालय सतीश कुमार वत्स और थाना चांदनी बाग प्रभारी संदीप कुमार पुलिस बल के साथ पहुंचे। आरोपितों की पहचान करनाल के अशोक नगर के रामकुमार, अश्विनी और विश्वास के रूप में हुई है। 

हैदराबादी अस्पताल में आधे घंटे तक नहीं किया इलाज
अजय ने बताया कि वह खून से लथपथ भाभी नीलम को हैदराबादी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में ले गए। वहां से उन्हें दो नंबर कमरे में भेजा। दो नंबर कमरे से 19 नंबर कमरे में डॉक्टर के पास भेजा। वहां से फिर से इमरजेंसी वार्ड में भेज दिया। आधे घंटे तक इलाज नहीं मिला। महज रूई व टेप लगाकर अस्पताल स्टाफ ने पुलिस केस का हवाला दिया और सिविल अस्पताल ले जाने की सलाह दी। सिविल अस्पताल गए तो पीजीआइ रोहतक रेफर कर दिया। बाद में नीलम को निजी अस्पताल में भर्ती कराया। नीलम का ऑपरेशन हुआ है और उनके गर्दन पर आठ टांके लगे हैं। गनीमत रही कि गर्दन की मुख्य नस नहीं कटी। उधर, हैदराबादी अस्पताल के कैशियर ओम लखीना का कहना है कि हालत गंभीर होने के कारण नीलम को रेफर कर दिया था। 

सुरक्षा के के लिए एक साल पहले लगाया था गेट
नीलम के भतीजे सुरेंद्र ने बताया कि एक साल पहले सुरक्षा के मद्देनजर गलीवासियों ने गली में गेट लगवा दिया था। पहली बार गली में लूट की वारदात हुई है। 

ये हो चुकी हैं चेन लूट की वारदात

  • 3 सितंबर को दो बदमाशों ने सेक्टर 12 निवासी केमिकल कारोबारी अमित गोयल की सोने के चेन लूट ली। बदमाशों की चोरी की बाइक पुलिस के पास है, लेकिन बदमाशों का सुराग नहीं है। 
  • 24 अगस्त को सेक्टर-12 के उद्यमी प्रलाहद जिंदल की पत्नी निर्मला की सेक्टर-12 स्थित शिव मंदिर में दो तोले की चेन तोड़ ली। 
  • 26 अगस्त की सुबह उद्यमी न्यू हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के त्रिलोचन सिंह पत्नी 67 वर्षीय विद्या प्रकाश की वार्ड-11 में 21 ग्राम की सोने की चेन झपट ली। 
  • 19 अगस्त को बाइक सवार दो बदमाशों ने चाकू के बल पर सेक्टर-6 में शिक्षिका एल्डिको कॉलोनी की डिंपल का पर्स लूट लिया। पर्स में आठ हजार रुपये थे। 

बदमाश को पकड़ने वाले होंगे सम्मानित
आरोपित रामकुमार को गिरफ्तार कर लिया है। बदमाश को पकड़ने वाले दीपक, जयकृष्ण और नीलम को पुलिस सम्मानित करेगी। पुलिस कंट्रोल रूम में कॉल रिसीव न होने और गोहाना मोड़ पर ड्यूटीरत पुलिसकर्मियों के मदद न करने की जांच की जाएगी। शिकायत मिली तो जांच करने के बाद हैदराबादी अस्पताल स्टाफ के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा। 
सतीश कुमार वत्स, डीएसपी मुख्यालय

Posted By: Anurag Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस