जगमहेंद्र सरोहा, पानीपत:

हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हुई वारदात के बाद पानीपत के गांव नौल्था के दो भाई आगे आए हैं। दोनों ने अपने नजदीकी 15-20 युवाओं का एक ग्रुप बनाया है। यह ग्रुप रात को मुश्किल में फंसे लोगों की मदद करेगा। ये मुश्किल गाड़ी में ईधन खत्म होने या खराब होना भी हो सकती हैं। दूध बेचने का काम करने वाले सगे भाइयों ने मोबाइल नंबर भी सार्वजनिक किया है। वे इस हादसे से पहले भी ऐसा करते रहे हैं।

नौल्था निवासी मनोज जागलान ने बताया कि वह और उसका छोटा भाई दीपक दूध बेचने का काम करते हैं। वे अल सुबह और देर रात को पानीपत में दूध सप्लाई कर आते हैं। कई बार रात के वक्त गाड़ी खराब होने या तेल खत्म होने पर राहगीर फंसे मिलते हैं। वे उन्हें पेट्रोल पंप तक ले जाने और मेकेनिक तक गाड़ी पहुंचा देते थे। हैदराबाद में पिछले दिनों एक महिला डॉक्टर ने स्कूटी के लिए मदद मांगनी चाही थी, लेकिन उसको दरिदगी का शिकार होना पड़ा। उसके नजदीकी साथियों ने मदद के लिए एक ग्रुप बनाने का फैसला लिया। सोशल मीडिया पर वायरल मैसेज में यह संदेश दिया

पानीपत वालों की पहल: पानीपत के 15 किलोमीटर के दायरे मे अगर किसी माता, बहन, चाची, ताई और दादी को शाम 7:30 बजे के बाद कोई साधन नहीं मिल पा रहा हो या किसी माता, बहन की गाड़ी या स्कूटी खराब हो जाती है या तेल खत्म हो जाता है तो 808071000 पर कॉल करें। मैं और मेरी पूरी टीम उनको घर पहुंचाने में पूरी मदद करेगी। उन्होंने साथ ही दूसरे लोगों को भी राहगीरों की मदद करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि वे भी इस मुहिम में उनके साथ जुड़ सकते हैं। हर व्यक्ति, सामाजिक संगठन व पुलिसकर्मी अपनी बहन और बेटियों की रक्षा करने के लिए आगे आ सकता है। पिता की मौत के बाद दोनों संभाला काम

मनोज जागलान ने बताया कि 10 साल पहले उसके पिता कृष्ण की एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी। उनके घर की गाड़ी पटरी से उतर गई थी। वह 12वीं कक्षा तक पढ़ाई कर सका। उसने अपने पिता का दूधिया का काम संभाल लिया। उसका छोटा भाई दीपक भी कुछ दिनों बाद उसका हाथ बंटाने लगा। वे जरूरतमंद की मदद करने के लिए हर समय तैयार रहते हैं। जाटल रोड शनि मंदिर के पीछे एक बुजुर्ग महिला को उसके पैसे देने में असर्मथता जताने के बाद गत छह महीने से हर रोज आधा लीटर दूध दे रहे हैं। जाटल रोड का जाम हटाने में देते हैं सहयोग

मनोज ने बताया कि जाटल रोड देसवाल चौक पर शाम के वक्त अकसर जाम लग जाता है। वह 8 बजे दूध की सप्लाई देकर फ्री हो जाता है। वह यातायात को सुचारु कराने का प्रयास करता है। अब होमगार्ड कर्मी तैनात किए गए हैं। वह अब भी होमगार्ड कर्मियों का सहयोग करता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस