पानीपत, जेएनएन। मोटे मुनाफे का झांसा दे ठगी करने का एक और मामला सामने आया है। अंतरराज्यीय गिरोह के पांच ठगों ने एजेंट के साथ मिलकर इसे अंजाम दिया। नोएडा में एक फर्जी कंपनी में निवेश करा पानीपत व आसपास के जिलों के 100 से ज्यादा लोगों को शिकार बना लिया। इनसे 97 लाख 49 हजार 700 रुपये ठग लिये। 

एक साल बाद कंपनी बंद कर आरोपित फरार हो गए। पीडि़तों ने रुपये मांगे तो झूठे केस में फंसाने की धमकी दी। पहले पुलिस में सुनवाई नहीं की। सीएम विंडो में शिकायत देने के बाद पुलिस ने केस दर्ज किया है।

उप्र में पहले से दो मामले दर्ज

ठगों ने फर्जी वेबसाइट का भी इस्तेमाल किया। पीडि़तों ने शक जाहिर किया है कि आरोपित देश छोड़कर भाग सकते हैं। ठगों के खिलाफ 12 फरवरी 2019 को उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर के दादरी थाने और वाराणसी के कैंट थाने में भी धोखाधड़ी का मामला दर्ज है। 

सेमिनार में कारें व बाइकें देकर फंसाया

सेक्टर-29 थाना प्रभारी इंस्पेक्टर योगेश कुमार ने बताया कि विकास नगर के एक व्यक्ति ने सीएम ङ्क्षवडो में शिकायत दी कि 2017 में उसके साथ मेरठ के मवाना का बृजमोहन काम करता था। बृजमोहन ने बताया कि वह नोएडा के टोल टैक्स के पास गर्वित इनोवेटिव प्रोमोटर्स लिमिटेड फाइनेंस कंपनी का एजेंट है। इस कंपनी के गाजियाबाद के संजय भाटी, बुलंदरशहर के राजेश भारद्वाज, मेरठ की डिफेंस कॉलोनी के करनपाल, ललित कुमार व विशाल निदेशक हैं। कंपनी में रुपये निवेश करके मोटा मुनाफा कमाया जा सकता है। झांसे में आकर पीडि़त व्यक्ति दोस्तों व रिश्तेदारों के साथ 28 जनवरी 2018 को गौतमबुद्ध यूनिवर्सिटी के अलपन कॉलेज में सेमिनार में गया। वहां आरोपितों ने कई निवेशकों को कार व बाइकें दी। 18 फरवरी को पानीपत में सेमिनार किया गया। इसमें मुनाफा व इनाम अर्जित करने का लोभ दिया गया।  इसके बाद उसने, दोस्तों व रिश्तेदारों ने कंपनी में निवेश कर दिया। 

फर्जी चेक दे 100 दिन में राशि लौटाने का आश्वासन दिया

ठगों ने दिसंबर 2018 में कंपनी का कार्यालय बंद कर दिए। आरोपित करनपाल ने निवेशकों को फर्जी पोस्ट डेटेड चेक दिये और अलग-अलग  साइन कर दिये। 100 दिन में रुपये लौटाने का आश्वासन दिया। पीडि़त व अन्य लोगों को रुपये नहीं मिले तो उन्हें पता चला कि उनके साथ धोखाधड़ी कर ली गई है। 

इनके खिलाफ केस दर्ज 

सेक्टर-29 थाना प्रभारी योगेश कुमार ने बताया कि संजय भाटी, राजेश भारद्वाज, करनपाल, ललित कुमार, विशाल और बृजमोहन के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपितों की तलाश की जा रही है।

ये भी पढ़ें: NDRI में रहस्यमयी बीमारी से मुर्राह भैंसों की सिलसिलेवार मौत, विशेषज्ञ भी हैरान

ये भी पढ़ें: GT Road पर नकली नोट का खेल, ढाबे पर वेटर करता था असली से अदला बदली

 

Posted By: Anurag Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप