जागरण संवाददाता, पानीपत : जिला पुलिस की सीआइए टू टीम ने चोरी की वारदात को अंजाम देने के आरोपित दो सगे भाइयों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों की पहचान मुख्तयार व सबीर निवासी बतरा कालोनी के तौर पर हुई। ए पुलिस ने चोर भाइयों से सोने का एक हार, एक टीका, एक जोड़ी टोपस, एक चैन, दो लोकेट, एक चांद, एक जोड़ी कानों की बाली व चांदी के पांच जोड़ी कड़े, एक तागड़ी, चार पाजेब, एक मंगलसूत्र, तीन जोड़ी चुटकी बरामद की है।

सीआइए-टू प्रभारी इंस्पेक्टर विरेंद्र सिंह ने बताया कि रविवार शाम उन्हें सूचना मिली की चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले दो युवक बतरा कालोनी में किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे हैं। आरोपितों की धरपकड़ के लिए एएसआइ जवाहर के नेतृत्व में गठित टीम ने छापेमारी कर दोनों आरोपितों से पूछताछ की। उन्होंने अपने नाम मुख्तार निवासी बतरा कालोनी व निखिल उर्फ गोल्डी निवासी पूरेवाल कालोनी कच्चा कैंप बताए। पूछताछ करने पर आरोपितों ने थाना पुराना औद्योगिक क्षेत्र के अन्तर्गत 2 अप्रैल की रात को कच्चा कैंप की रोशनलाल कालोनी में एक मकान से सोने चांदी के जेवरात, नकदी व दो मोबाइल फोन चोरी करने की बात बूल की। पुलिस ने उक्त मामले में मुकेश निवासी रोशन लाल कालोनी कच्चा कैंप के बयान पर केस दर्ज किया हुआ है। मुकेश ने बताया था कि 2 अप्रैल की रात वह अपनी पत्नी व बच्चों के साथ कमरे में सोया हुआ था। रात में अज्ञात चोर मकान में घुसकर सामान चोरी कर ले गए थे।

रिमांड पर लिया

इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह ने बताया कि चोरी किया सामान बरामद करने के लिए गिरफ्तार आरोपित निखिल को दो व मुख्तयार को न्यायालय पेश कर चार दिन के रिमांड पर लिया था। रिमांड के दौरान मुख्तयार ने वारदात में उसके छोटे भाई सबीर के भी शामिल होने की बात कबूल की। मुख्तयार ने बताया कि चुराए गए जेवरात में से चांदी के उसने अपने पास रख लिए थे और सोने के जेवरात उसके भाई सबीर ने रख लिए थे।

भाई दिल्ली से पकड़ा गया

निरीक्षक वीरेंद्र सिंह ने बताया कि रिमांड के दौरान मुख्तयार को साथ लेकर उसके भाई सबीर के विभिन्न ठिकानों पर दबिश दी गई। वीरवार शाम को सबीर को दिल्ली के निहाल विहार से पकड़ने में सफलता मिल पाई। दोनों से सोने व चांदी के जेवरात बरामद करने के बाद अदालत पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। निखिल के कब्जे से पुलिस ने दो मोबाइल फोन बरामद किए थे।