जागरण संवाददाता, पानीपत। हरियाणा सरकार प्रदेश के हर जिला में सीरो सर्वे-थ्री कभी भी करा सकती है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने करीब 10 दिन पहले चौथे सर्वे की रिपोर्ट जारी की थी। रिपोर्ट में बताया था कि देश की करीब 67.6 फीसद आबादी में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी विकसित हो चुकी है। यह भी कहा था कि जिला स्तर पर संक्रमण की दर अलग हो सकती है।

इसलिए, जिला स्तर पर अलग से सीरो सर्वे कराने की जरूरत है।  सीरो सर्वे के नोडल अधिकारी डा. ललित वर्मा ने बताया कि आइसीएमआर की चौथी रिपोर्ट के मुताबिक हरियाणा में यह दर 60.1 फीसद आबादी में वायरस के खिलाफ एंटीबाडी बन चुकी है। पानीपत में तीसरा सीरो सर्वे 15 जून को शुरू होना था। 16 टीमें, 20 कलस्टर बनाए गए थे। हर जगह से 20 लोगों के ब्लड सैंपल लेने थे। ऐन वक्त पर सर्वे को रद कर दिया गया था। अब आइसीएमआर ने ही जिला स्तर पर सीरो सर्वे की सिफारिश की है। डॉ. वर्मा के मुताबिक राज्य स्तर पर संक्रमण की सही क्या स्थिति है, इसका पता भी जिला स्तर कराए जाने वाले सीरो सर्वे से ही चलेगा।

खतरा अभी टला नहीं

डा. वर्मा ने बताया कि आइसीएमआर की ओर से जारी चौथे सीरो सर्वे के परिणाम उम्मीद की एक किरण पैदा करते हैं, लेकिन खतरा टला नहीं है। जनसंख्या का बड़ा हिस्सा, लगभग 32 फीसद लोगों के शरीर में अभी संक्रमण से लड़ने के लिए एंटीबाडी नहीं बनी है।

यह बरतें सावधानी

  1. घर से बाहर मास्क पहनकर ही निकलें।
  2. अनावश्यक यात्राएं करने से बचें।
  3. भीड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें।
  4. दो गज की शारीरिक दूरी बनाए रखें।
  5. हाथों को सैनिटाइज करते रहें।
  6. नमस्ते करें, किसी से हाथ न मिलाएं।
  7. कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाएं।

प्रथम सर्वे में पानीपत के आंकड़े 

अगस्त-2020 में शहर में कुल 352 लोगों (130 पुरुष व 222 महिलाओं) के ब्लड सैंपल लिए गए थे। इनमें से 13 पुरुषों, 13 महिलाओं (क्रमश: 10 व 5.85 फीसद) के शरीर में एंटीबाडीज डेवलप हुई थी। ग्रामीण क्षेत्र में कुल 527 (246 पुरुष, 281 महिलाओं) के ब्लड सैंपल लिए गए थे। 22 पुरुषों और 14 महिलाओं (क्रमश: 8.94 व 4.98 फीसद) के शरीर में एंटीबाडीज बनी थी। यानि, 7.4 फीसद जनसंख्या के शरीर में हर्ड इम्युनिटी बनी थी।

द्वितीय सीरो सर्वे में पानीपत के आंकड़े

अक्टूबर-2020 में दूसरा सीरो सर्वे हुआ था। 15 कलस्टर बनाए थे। 726 (शहर में 289, ग्रामीण क्षेत्र में 437) सैंपल लिए गए थे। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने नवंबर में रिपोर्ट जारी की थी। जिला में 23 लोगों के शरीर में हर्ड इम्यूनिटी बन चुकी थी। शहरी क्षेत्र में 36.67 फीसद, ग्रामीण क्षेत्र में 13.95 फीसद आबादी के शरीर में हर्ड इम्युनिटी बनी थी।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Umesh Kdhyani